यहाँ आपको Top 10 Saraswati Vandana Lyrics बेहतरीन सरस्वती माँ भजन लिरिक्स मिलेंग। यह Top 10 Saraswati Vandana Lyrics सरस्वती माँ भजन सबसे ज्यादा लोकप्रिय तथा सबसे ज्यादा सुने जाने वाले भजन है। हम उम्मीद करते हैं आपको यह Top 10 Saraswati Vandana Lyrics सरस्वती माँ भजन लिरिक्स पसंद आएंगे।

Saraswati Maa

सरस्वती निर्माता भगवान ब्रह्मा की पत्नी थीं। वह उसे ब्रह्मांड बनाने में मदद करने के लिए जिम्मेदार थी। कुछ कहानियों में, सरस्वती का विवाह मूल रूप से भगवान विष्णु से हुआ था, इससे पहले कि वह उन्हें ब्रह्मा को सौंप देता। ऐसा माना जाता है कि देवी सरस्वती मनुष्य को वाणी, ज्ञान और विद्या की शक्तियों से संपन्न करती हैं। उसके चार हाथ हैं जो सीखने में मानव व्यक्तित्व के चार पहलुओं का प्रतिनिधित्व करते हैं: मन, बुद्धि, सतर्कता और अहंकार। माँ (माँ) सरस्वती एक हिंदू देवी हैं जो शिक्षा, रचनात्मकता और संगीत का प्रतिनिधित्व करती हैं। सरस्वती नाम संस्कृत मूल “सरस” से निकला है, जिसका अर्थ है “वह जो तरल है।” माँ सरस्वती को अराजकता से बाहर निकालने के लिए जाना जाता है और उनका शांत और केंद्रित व्यक्तित्व है।

Top 10 Saraswati Vandana Lyrics | सरस्वती माँ भजन लिरिक्स

1. He Sharde Maa हे शारदे माँ Bhajan Lyrics

Singer – Chetna

हे शारदे माँ, हे शारदे माँ
अज्ञानता से हमें तारदे माँ ||

हे शारदे माँ, हे शारदे माँ
अज्ञानता से हमें तारदे माँ ||

तू स्वर की देवी, ये संगीत तुझसे,
हर शब्द तेरा है, हर गीत तुझसे |
हम है अकेले, हम है अधूरे
तेरी शरण हम, हमें प्यार दे माँ ||

हे शारदे माँ, हे शारदे माँ
अज्ञानता से हमें तारदे माँ ||

मुनियों ने समझी, गुनियों ने जानी,
वेदोंकी भाषा, पुराणों की बानी |
हम भी तो समझे, हम भी तो जाने
विद्या का हमको अधिकार दे माँ ||

हे शारदे माँ, हे शारदे माँ
अज्ञानता से हमें तारदे माँ ||

तू श्वेतवर्णी, कमल पर विराजे,
हाथों में वीणा, मुकुट सर पे साजे |
मनसे हमारे मिटाके अँधेरे,
हमको उजालों का संसार दे माँ ||

हे शारदे माँ, हे शारदे माँ,
अज्ञानता से हमें तारदे माँ ||

हे शारदे माँ, हे शारदे माँ
अज्ञानता से हमें तारदे माँ ||

2. Jayati Jay Jay Maa Saraswati जयति जय माँ जय सरस्वती Bhajan Lyrics

Singer – Swasti Pandey & Sushmita

जयति जय जय माँ सरस्वती,
जयति वीणा धारिणी ||

जयति जय पद्मासन माता,
जयति शुभ वरदायिनी |

जयति जय जय माँ सरस्वती,
जयति वीणा धारिणी ||

जगत का कल्याण कर माँ,
तुम हो वीणा वादिनी |

जयति जय जय माँ सरस्वती,
जयति वीणा धारिणी ||

कमल आसन छोड़ कर आ,
देख मेरी दुर्दशा मां |

जयति जय जय माँ सरस्वती,
जयति वीणा धारिणी ||

ग्यान की दरिया बहा दे,
हे सकल जगतारणी |

जयति जय जय माँ सरस्वती,
जयति वीणा धारिणी ||

3. Karunamayi Vardayani करुणा मयी Bhajan Lyrics

Singer – Lakhbir Singh Lakha

करुणा मयी माँ आपका,
हमको सदा आधार हो |

आपकी भक्ति से ही माँ,
परिपूर्ण ये संसार हो ||

करुणा मयी माँ आपका,
हमको सदा आधार हो |

आपकी भक्ति से ही माँ,
परिपूर्ण ये संसार हो ||

करुणा मयी माँ आपका…

माता पिता बंधु सखा,
माँ ज्ञान हो माँ प्राण हो |

मात्मा परमात्मा,
इस जग की पालन हार हो ||

करुणा मयी माँ आपका,
हमको सदा आधार हो |

आपकी भक्ति से ही माँ,
परिपूर्ण ये संसार हो ||

करुणा मयी माँ आपका…
अहंकार प्रति अहंकार से,
हमको बचाना माँ सदा |

शुद्ध और निर्मल हमारा,
सर्वदा आचार हो ||

करुणा मयी माँ आपका,
हमको सदा आधार हो |

आपकी भक्ति से ही माँ,
परिपूर्ण ये संसार हो ||

करुणा मयी माँ आपका…

प्रेम और आनंद से,
हम गीत गाये आपके |

हर दिल में बहता आपका ही,
प्रेम पारावार हो ||

करुणा मयी माँ आपका,
हमको सदा आधार हो |

आपकी भक्ति से ही माँ,
परिपूर्ण ये संसार हो ||

करुणा मयी माँ आपका…

आपके आशीष से ही,
बह चली है सहज धारा |

इस लोक से ब्रम्ह लोक तक,
आपकी जयकार हो ||

करुणा मयी माँ आपका,
हमको सदा आधार हो |

आपकी भक्ति से ही माँ,
परिपूर्ण ये संसार हो ||

करुणा मयी माँ आपका…

वंदना कर सुमिरन करें,
पूजन करें माँ आपका |

सहज ज्योति से सदा,
रोसन सहज परिवार हो ||

करुणा मयी माँ आपका,
हमको सदा आधार हो |

आपकी भक्ति से ही माँ,
परिपूर्ण ये संसार हो ||

करुणा मयी माँ आपका…

4. Meri Maa Sharde मेरी माँ शारदे Bhajan Lyrics

Singer – Manisha Rawat

मेरी मां शारदे, तू स्वर को सजाने आजा,
आज की रात माँ वीणा को बजाने आजा,
आजा आजा आजा ओ आजा,
मुझे विश्वास है मा तू तो जरूर आऐगी,
आके मां तू तो वीणा भी बजाऐगी,

भक्ति क्या है, जमाने को दिखाने आजा,
आज की रात, माँ वीणा को बजाने आजा
मेरी मां शारदे, तू स्वर को सजाने आजा,
आज की रात माँ वीणा को बजाने आजा
आजा आजा आजा ओ आजा

तेरी वीणा की धुन, सबको सुनाएंगे अभी,
फिर ना आना हम,फिर ना बुलाएंगे कभी,
तेरे भक्तो की, लाज को बचाने आजा,

आज की रात, माँ वीणा को बजाने आजा,
मेरी मां शारदे, तू स्वर को सजाने आजा,
आज की रात माँ वीणा को बजाने आजा,
आजा आजा आजा ओ आजा

5. Meri Maa Sharde Tu Mere Kanth Mein Viraje मां शारदे कंठ में आ विराजो Bhajan Lyrics

स्थाई –
माँ शारदे तू मेरे कंठ में विराजे,
वंदन करूँ मैं तेरी हाथों में पुष्प साजे |
माँ शारदे तू मेरे कंठ में विराजे,
वंदन करूँ मैं तेरी हाथों में पुष्प साजे ||

अंतरा –

  1. वीणा वादिनि माँ शारदे,
    पुस्तक धारिणी माँ शारदे |
    वीणा वादिनि माँ शारदे,
    पुस्तक धारिणी माँ शारदे ||

त्रुटि पूर्ण वाणी मेरी इसको तू ही सुधारे ||
माँ शारदे तू मेरे कंठ में विराजे,
वंदन करूँ मैं तेरी हाथों में पुष्प साजे ||

  1. वीणा बजाकर माँ शारदे,
    मेरा गीत अमर कर माँ शारदे |
    वीणा बजाकर माँ शारदे,
    मेरा गीत अमर कर माँ शारदे ||

पुकारे ये भक्त तुझको, मन में तू ही विराजे ||
माँ शारदे तू मेरे कंठ में विराजे,
वंदन करूँ मैं तेरी हाथों में पुष्प साजे ||

  1. पाप की कोई न हो बाते माँ,
    बंधन न झूठ का हो कोई माँ |
    पाप की कोई न हो बाते माँ,
    बांध न झूठ का हो कोई माँ ||

अज्ञान को मिटाकर मन ज्ञान तू ही भर दे ||

माँ शारदे तू मेरे कंठ में विराजे,
वंदन करूँ मैं तेरी हाथों में पुष्प साजे | -2

6. Ver De Veena Vadini Var De वर दे वीणावादिनि वर दे Bhajan Lyrics

Singer – Priyanka Chitriv

वर दे, वीणावादिनि वर दे,
प्रिय स्वतंत्र-रव अमृत-मंत्र नव
भारत में भर दे ||

काट अंध-उर के बंधन-स्तर,
बहा जननि, ज्योतिर्मय निर्झर,
कलुष-भेद-तम हर प्रकाश भर |
जगमग जग कर दे ||

वर दे, वीणावादिनि वर दे,
प्रिय स्वतंत्र-रव अमृत-मंत्र नव
भारत में भर दे ||

नव गति, नव लय, ताल-छंद नव
नवल कंठ, नव जलद-मन्द्ररव,
नव नभ के नव विहग-वृंद को,
नव पर, नव स्वर दे ||

वर दे, वीणावादिनि वर दे,
वर दे, वीणावादिनि वर दे,
प्रिय स्वतंत्र-रव अमृत-मंत्र नव
भारत में भर दे ||

7. Maa Saraswati Tere Charno Mein माँ सरस्वती तेरे चरणों में Bhajan Lyrics

माँ सरस्वती तेरे चरणों में,
हम शीश झुकाने आयें है |
दर्शन की भिक्षा लेने को,
दो नयन कटोरे लाए हैं ||

अज्ञान अंधेरा दूर करो और,
ज्ञान का दीप जला देना |
हम ज्ञान की शिक्षा लेने को,
माँ द्वार तिहारे आए हैं ||

हम अज्ञानी बालक तेरे,
अज्ञान दोष को दूर करो ||
बहती सरिता विद्या की,
हम उसमें नहाने आए हैं ||

हम साँझ सवेरे गुण गाते,
माँ भक्ति की ज्योति जला देना |
क्या भेंट करु उपहार नहीं,
हम हाथ पसारे आए हैं ||

माँ सरस्वती तेरे चरणों में,
हम शीश झुकाने आयें है |
दर्शन की भिक्षा लेने को,
दो नयन कटोरे लाए हैं ||

8. He Vina Vadini Saraswati हे वीणा वादिनी सरस्वती Bhajan Lyrics

Singer – Namita Agrawal

हे वीणा वादिनी सरस्वती,
हंस वाहिनी सरस्वती |
विद्या दायिनी सरस्वती,
नारायणी नमोस्तुते ||

तू राह दिखाना मात मेरी,
साथ निभाना मात मेरी |
अँधियारा है अंतर मन,
ज्योत जलना मात मेरी,
ज्योत जलना मात मेरी ||

हे वीणा वादिनी सरस्वती
हंस वाहिनी सरस्वती |
विद्या दायिनी सरस्वती
नारायणी नमोस्तुते,
नारायणी नमोस्तुते ||

मन में करुणा भर देती,
निष्पाप ह्रदय तू कर देती |
भक्ति से तुझे पूजे जो,
सुबह आस तू मन में भर देती,
सुबह आस तू मन में भर देती ||

हे वीणा वादिनी सरस्वती,
हंस वाहिनी सरस्वती |
विद्या दायिनी सरस्वती,
नारायणी नमोस्तुते ||

हे वीणा वादिनी सरस्वती,
हंस वाहिनी सरस्वती |
विद्या दायिनी सरस्वती,
नारायणी नमोस्तुते ||

9. Maa Saraswati Dena Sahara माता सरस्वती देना सहारा Bhajan Lyrics

माता सरस्वती देना सहारा,
हमने पकड़ा है दामन तुम्हारा।

माता हमारी हम पुत्र तेरे माँ है,
जग जननी है नाम तुम्हारा,
हमने पकड़ा है दामन तुम्हारा।
माता सरस्वती देना सहारा,
हमने पकड़ा है दामन तुम्हारा।

मंदमति हम शरण में आए हैं माँ,
निर्मल कर दो बुद्धि हमारी माँ,
विद्यादायिनी है नाम तुम्हारा,
हमने पकड़ा है दामन तुम्हारा
माता सरस्वती देना सहारा,
हमने पकड़ा है दामन तुम्हारा।

मन में ऐसी ज्योति जगा दो मां
नीरस हृदय को सरस बना दो माँ
वीणावादिनी है नाम तुम्हारा
हमने पकड़ा है दामन तुम्हारा
माता सरस्वती देना सहारा,
हमने पकड़ा है दामन तुम्हारा।

10. Ya Kundendu Tushara Hara Dhavala या कुंडेंदु तुषारा हर धवला Bhajan Lyrics

या कुंडेंदु तुषारहारा धवला
या शुभ्रा वस्त्रव्रत:
या वीणा वरदन्द मन्दिताकार
या श्वेतपद्मासन
या ब्रह्मच्युत शंकर प्रभृतिबिहि:
देवई सदा वंदिता
सा मम पट्टू सरस्वती भगवती
निहशेष जद्यपहा॥1॥

शुक्लं ब्रह्मविचार सारा परमा
अद्यम जगद्व्यापीनेम
वीणा पुस्तक धरनीम अभयदम
जद्यंधकरपहं।
जल्दबाजी स्फटिकमलिकम विदधातीम
पद्मासन समस्ती
वंदे तम परमेश्वरम भगवतीम
बुद्धिप्रदाम शरदम 2॥

Added by

admin

SHARE

Your email address will not be published.