यहाँ आपको Top 10 Ram Bhajan Lyrics राम भजन लिरिक्स मिलेंग। यह Top 10 Ram Bhajan Lyrics राम भजन सबसे ज्यादा लोकप्रिय तथा सबसे ज्यादा सुने जाने वाले भजन है। हम उम्मीद करते हैं आपको यह Top 10 Ram Bhajan Lyrics राम भजन लिरिक्स पसंद आएंगे।

श्री राम भगवान

राम सबसे व्यापक रूप से पूजे जाने वाले हिंदू देवताओं में से एक हैं, जो शिष्टता और सदाचार के अवतार हैं। यह नाम विशेष रूप से विष्णु के सातवें अवतार (अवतार) रामचंद्र से जुड़ा है। उनकी कहानी महाकाव्य कविताओं महाभारत और रामायण में बताई गई है। भगवान राम को मानव रूप में सबसे पुराने देवता के रूप में जाना जाता है, क्योंकि भगवान राम का जन्म त्रेता युग में हुआ था और ऐसा माना जाता है कि त्रेता युग आज से 1,296,000 साल पहले समाप्त हो गया है। त्रेता युग में भगवान राम के अलावा, भगवान विष्णु ने वामन और परशुराम के रूप में अवतार लिया। राम रक्षा के देवता विष्णु के अवतार हैं। विष्णु तीन सबसे महत्वपूर्ण हिंदू देवताओं की त्रिमूर्ति में से एक हैं – ब्रह्मा निर्माता, विष्णु रक्षक, और शिव संहारक। विष्णु के विभिन्न प्राणियों के रूप में पृथ्वी पर नौ अवतार हुए हैं। इन्हीं में से एक है राम। जब भगवान राम ने अपने नश्वर अवशेषों को सर्वोच्च शक्ति के साथ एक होने के लिए छोड़ दिया, तो अयोध्या में घटनाओं का एक मोड़ हुआ। दरअसल, अपने जुड़वां बेटों में बड़े कुश ने पदभार संभाला और अयोध्या पर शासन किया।

Top 10 Ram Bhajan Lyrics | राम भजन लिरिक्स

1. Shri Ram Chandra Kripalu श्री राम चंद्र कृपालु Bhajan Lyrics

Singer – Suresh Wadkar

श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन
हरण भवभय दारुणं
नव कंज लोचन कंज मुख
कर कंज पद कंजारुणं

कन्दर्प अगणित अमित छवि
नव नील नीरद सुन्दरं
पटपीत मानहुँ तडित रुचि शुचि
नोमि जनक सुतावरं

भजु दीनबन्धु दिनेश दानव
दैत्य वंश निकन्दनं
रघुनन्द आनन्द कन्द कोशल
चन्द दशरथ नन्दनं

शिर मुकुट कुंडल तिलक
चारु उदारु अङ्ग विभूषणं
आजानु भुज शर चाप धर
संग्राम जित खरदूषणं

इति वदति तुलसीदास शंकर
शेष मुनि मन रंजनं
मम् हृदय कुंज निवास कुरु
कामादि खलदल गंजनं

मन जाहि राच्यो मिलहि सो
वर सहज सुन्दर सांवरो
करुणा निधान सुजान शील
स्नेह जानत रावरो

एहि भांति गौरी असीस सुन सिय
सहित हिय हरषित अली
तुलसी भवानिहि पूजी पुनि-पुनि
मुदित मन मन्दिर चली

~ सोरठा ~

जानी गौरी अनुकूल सिय
हिय हरषु न जाइ कहि
मंजुल मंगल मूल वाम
अङ्ग फरकन लगे

2. Kabhi Ram Banke Kabhi Shyam Banke कभी राम बनके कभी श्याम बनके Bhajan Lyrics

Singer – Tripti Shakya

कभी राम बनके कभी श्याम बनके,
चले आना प्रभुजी चले आना॥

तुम राम रूप में आना, तुम राम रूप में आना,
सीता साथ लेके, धनुष हाथ लेके,
चले आना प्रभुजी चले आना॥

तुम श्याम रूप में आना, तुम श्याम रूप में आना,
राधा साथ लेके, मुरली हाथ लेके,
चले आना प्रभुजी चले आना॥

तुम शिव के रूप में आना, तुम शिव के रूप में आना,
गौरा साथ लेके, डमरू हाथ लेके,
चले आना प्रभुजी चले आना॥

तुम विष्णु रूप में आना, तुम विष्णु रूप में आना,
लक्ष्मी साथ लेके, चक्र हाथ लेके,
चले आना प्रभुजी चले आना॥

तुम गणपति रूप में आना, तुम गणपति रूप में आना,
रीधी साथ लेके, सीधी साथ लेके,
चले आना प्रभुजी चले आना॥

कभी राम बनके कभी श्याम बनके,
चले आना प्रभुजी चले आना॥

3. Ram Na Milenge Hanuman Ke Bina राम ना मिलेंगे हनुमान के बिना Bhajan Lyrics

Singer – Lakhbir Singh Lakha

पार ना लगोगे श्री राम के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना
पार ना लगोगे श्री राम के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना

सुन लो पार ना लगोगे श्री राम के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना
पार ना लगोगे श्री राम के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना

होये राम ना मिलेगे हनुमान के बिना
श्री राम ना मिलेंगे हनुमान के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना
श्री राम ना मिलेंगे हनुमान के बिना

ओये पार ना लगोगे श्री राम के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना
पार ना लगोगे श्री राम के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना

वेदो ने पुराणो ने कह डाला
राम जी का साथी बजरंग बाला
वेदो ने पुराणो ने कह डाला
राम जी का साथी बजरंग बाला

होये वेदो ने पुराणो ने कह डाला
राम जी का साथी बजरंग बाला
वेदो ने पुराणो ने कह डाला
राम जी का साथी बजरंग बाला

जीये हनुमान
श्री राम के बिना हनुमान जी नहीं सकते
और हनुमान के बिना श्री राम भी नहीं जी सकते

जीये हनुमान नही राम के बिना
राम भी रहे ना हनुमान के बिना
जीये हनुमान नही राम के बिना
राम भी रहे ना हनुमान के बिना

हाँ जीये हनुमान नही राम के बिना
राम भी रहे ना हनुमान के बिना
जीये हनुमान नही राम के बिना
राम भी रहे ना हनुमान के बिना

श्री राम भी रहे ना हनुमान के बिना
राम भी रहे ना हनुमान के बिना
राम भी रहे ना हनुमान के बिना
श्री राम भी रहे ना हनुमान के बिना

ओये पार ना लगोगे श्री राम के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना
पार ना लगोगे श्री राम के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना

जग के जो पालन हारे है
उन्हे हनुमान बैड प्यारे है
जग के जो पालन हारे है
उन्हे हनुमान बैड प्यारे है

हाँजी जग के जो पालन हारे है
उन्हे हनुमान बैड प्यारे है
जग के जो पालन हारे है
उन्हे हनुमान बैड प्यारे है

कर लो सिफ़ारिश
श्री राम जी को अगर पाना हो
तो हनुमान जी से सिफारिश करो

कर लो सिफ़ारिश दाम के बिना
रस्ता ना मिलेगा हनुमान के बिना
कर लो सिफ़ारिश दाम के बिना
रस्ता ना मिलेगा हनुमान के बिना

करलो, करलोकर लो सिफ़ारिश दाम के बिना
रस्ता ना मिलेगा हनुमान के बिना
कर लो सिफ़ारिश दाम के बिना
रस्ता ना मिलेगा हनुमान के बिना

ओये रस्ता ना मिलेगा हनुमान के बिना
रस्ता ना मिलेगा हनुमान के बिना
रस्ता ना मिलेगा हनुमान के बिना
रस्ता ना मिलेगा हनुमान के बिना

सुन लो पार ना लगोगे श्री राम के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना
पार ना लगोगे श्री राम के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना

जिनका भरोसा वीर हनुमान
उनका बिगड़ता नही कोई काम
जिनका भरोसा वीर हनुमान
उनका बिगड़ता नही कोई काम

ओये जिनका भरोसा वीर हनुमान
उनका बिगड़ता नही कोई काम
जिनका भरोसा वीर हनुमान
उनका बिगड़ता नही कोई काम

लक्खा कहे सुनो
जिनको भरोसा हनुमान जी का
उनके श्री राम काज संवारते है

लक्खा कहे सुनो हनुमान के बिना
कुछ ना मिलेगा गुणगान के बिना
भक्त कहे सुनो हनुमान के बिना
कुछ ना मिलेगा गुणगान के बिना

ओये कुछ ना मिलेगा गुणगान के बिना
कुछ ना मिलेगा गुणगान के बिना
कुछ ना मिलेगा गुणगान के बिना
कुछ ना मिलेगा गुणगान के बिना

सुन लो पार ना लगोगे श्री राम के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना
पार ना लगोगे श्री राम के बिना
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना

4. Shri Ram Jaanki Baithe Hein Mere Seene Mein श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में Bhajan Lyrics

Singer – Manishankar

नहीं चलाओ बाण व्यंग के ऐह विभीषण
ताना ना सेह पाऊं, क्यों तोड़ी है यह माला,
तुझे ए लंकापति बतलाऊं
मुझ में भी है तुझ में भी है, सब में है समझाऊं
ऐ लंका पति विभीषण ले देख मैं तुझ को आज दिखाऊं

– जय श्री राम –

श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में,
देख लो मेरे मन के नागिनें में ।

मुझ को कीर्ति न वैभव न यश चाहिए,
राम के नाम का मुझ को रस चाहिए ।
सुख मिले ऐसे अमृत को पीने में,
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में ॥

अनमोल कोई भी चीज मेरे काम की नहीं
दिखती अगर उसमे छवि सिया राम की नहीं

राम रसिया हूँ मैं, राम सुमिरन करू,
सिया राम का सदा ही मै चिंतन करू ।
सच्चा आंनंद है ऐसे जीने में श्री राम,
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में ॥

फाड़ सीना हैं सब को यह दिखला दिया,
भक्ति में हैं मस्ती बेधड़क दिखला दिया ।
कोई मस्ती ना सागर मीने में,
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में ॥

5. Shri Ram Jai Ram Jai Jai Ram श्री राम जय राम जय जय राम Bhajan Lyrics

Singer – Anuradha Paudwal

श्री राम जय राम, जय जय राम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l
रघुपति राघव, राजा राम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

दुःख भरे जहाँन में, दीन बंधु राम हैं,
दे के सब को आसरा, करुणा सिंध राम हैं l
दुर्बल को जो, लेते थाम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

रोम रोम में सुधा, राम जी की बोलिए,
कष्ट कोई जो घेर ले, राम राम बोलिए l
सिद्ध करेंगे, सारे काम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

डोर देखो सौंप के, राम जी के हाथ में,
वोह करेंगे रोशनी, गम की काली रात में l
साथ तेरे वोह, सुबह शाम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

हर्ष शोक राम के, धूप छाँव राम की,
फूलों संग जो कांटे हैं, सब है माया राम की l
माटी चँदन, उसके धाम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

राम जी के प्रेम में, जो भी प्राणी रोएगा,
आग की नदी में भी, वाल न बाँका होएगा l
रक्षक उसके, संवय हैं राम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

राम जी का नाम ले, मोक्ष छवरी पा गई,
फिर तुम्हारे चेहरे पे, क्यों उदासी छा गई l
तूँ भी भज ले, राम का नाम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

राम जी के प्रेम में, तूँ भी खो के देख ले,
आस्था से तूँ कभी, उनका हो के देख ले l
दुःख हर लेंगे, तेरे तमाम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

राम जी वसें तेरी, आत्मा की प्यास में,
राम भजन की धुन में है, राम हैं विश्वास में l
लाखों रूप, अनगिन नाम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

राम जी की तार से, तारें अपनी जोड़ दे,
उसके बाद होगा क्या, राम जी पे छोड़ दे l
उनसे अर्चन, कर निष्काम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

घिरे वासी अव्ध के, जब थे माया जल में,
दिल दिखाया चीर के, अंजलि के लाल ने l
बैठे वहाँ थे, सिया संग राम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

जिन पे राम था लिखा, वोह पाशान तर गए,
भक्त हो के राम के, कष्ट से क्यों डर गए l
राम रटन तूँ, कर अविराम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

राम से तुम मांग ले, औषधि आराम की,
दुःख निवारती दवा, राम जी के नाम की l
बिन मोल है यह, लगता ना दाम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम” l

वोह निराश होते ना, राम जिनके साथ हैं,
तूँ अनाथ तो नहीं, राम तेरे नाथ हैं l
उनके भरोसे, कर हर काम,
“श्री राम जय राम, जय जय राम”

6. Raghupati Raghav Raja Ram रघुपति राघव राजाराम Bhajan Lyrics

Singer – Pallavi Kelkar

रघुपति राघव राजाराम
पतित पावन सीताराम ॥

सुंदर विग्रह मेघश्याम
गंगा तुलसी शालग्राम ॥

रघुपति राघव राजाराम
पतित पावन सीताराम ॥

भद्रगिरीश्वर सीताराम
भगत-जनप्रिय सीताराम ॥

रघुपति राघव राजाराम
पतित पावन सीताराम ॥

जानकीरमणा सीताराम
जयजय राघव सीताराम ॥

रघुपति राघव राजाराम
पतित पावन सीताराम ॥

रघुपति राघव राजाराम
पतित पावन सीताराम ॥

7. Shri Ram Chalisa श्री राम चालीसा Bhajan Lyrics

Singer – Shekher Sen

श्री रघुवीर भक्त हितकारी।
सुन लीजै प्रभु अरज हमारी॥

निशिदिन ध्यान धरै जो कोई।
ता सम भक्त और नहिं होई॥

ध्यान धरे शिवजी मन माहीं।
ब्रह्म इन्द्र पार नहिं पाहीं॥

दूत तुम्हार वीर हनुमाना।
जासु प्रभाव तिहूं पुर जाना॥

तब भुज दण्ड प्रचण्ड कृपाला।
रावण मारि सुरन प्रतिपाला॥

तुम अनाथ के नाथ गुंसाई।
दीनन के हो सदा सहाई॥

ब्रह्मादिक तव पारन पावैं।
सदा ईश तुम्हरो यश गावैं॥

चारिउ वेद भरत हैं साखी।
तुम भक्तन की लज्जा राखीं॥

गुण गावत शारद मन माहीं।
सुरपति ताको पार न पाहीं॥

नाम तुम्हार लेत जो कोई।
ता सम धन्य और नहिं होई॥

राम नाम है अपरम्पारा।
चारिहु वेदन जाहि पुकारा॥

गणपति नाम तुम्हारो लीन्हो।
तिनको प्रथम पूज्य तुम कीन्हो॥

शेष रटत नित नाम तुम्हारा।
महि को भार शीश पर धारा॥

फूल समान रहत सो भारा।
पाव न कोऊ तुम्हरो पारा॥

भरत नाम तुम्हरो उर धारो।
तासों कबहुं न रण में हारो॥

नाम शक्षुहन हृदय प्रकाशा।
सुमिरत होत शत्रु कर नाशा॥

लखन तुम्हारे आज्ञाकारी।
सदा करत सन्तन रखवारी॥

ताते रण जीते नहिं कोई।
युद्घ जुरे यमहूं किन होई॥

महालक्ष्मी धर अवतारा।
सब विधि करत पाप को छारा॥

सीता राम पुनीता गायो।
भुवनेश्वरी प्रभाव दिखायो॥

घट सों प्रकट भई सो आई।
जाको देखत चन्द्र लजाई॥

सो तुमरे नित पांव पलोटत।
नवो निद्घि चरणन में लोटत॥

सिद्घि अठारह मंगलकारी।
सो तुम पर जावै बलिहारी॥

औरहु जो अनेक प्रभुताई।
सो सीतापति तुमहिं बनाई॥

इच्छा ते कोटिन संसारा।
रचत न लागत पल की बारा॥

जो तुम्हे चरणन चित लावै।
ताकी मुक्ति अवसि हो जावै॥

जय जय जय प्रभु ज्योति स्वरूपा।
नर्गुण ब्रह्म अखण्ड अनूपा॥

सत्य सत्य जय सत्यव्रत स्वामी।
सत्य सनातन अन्तर्यामी॥

सत्य भजन तुम्हरो जो गावै।
सो निश्चय चारों फल पावै॥

सत्य शपथ गौरीपति कीन्हीं।
तुमने भक्तिहिं सब विधि दीन्हीं॥

सुनहु राम तुम तात हमारे।
तुमहिं भरत कुल पूज्य प्रचारे॥

तुमहिं देव कुल देव हमारे।
तुम गुरु देव प्राण के प्यारे॥

जो कुछ हो सो तुम ही राजा।
जय जय जय प्रभु राखो लाजा॥

राम आत्मा पोषण हारे।
जय जय दशरथ राज दुलारे॥

ज्ञान हृदय दो ज्ञान स्वरूपा।
नमो नमो जय जगपति भूपा॥

धन्य धन्य तुम धन्य प्रतापा।
नाम तुम्हार हरत संतापा॥

सत्य शुद्घ देवन मुख गाया।
बजी दुन्दुभी शंख बजाया॥

सत्य सत्य तुम सत्य सनातन।
तुम ही हो हमरे तन मन धन॥

याको पाठ करे जो कोई।
ज्ञान प्रकट ताके उर होई॥

आवागमन मिटै तिहि केरा।
सत्य वचन माने शिर मेरा॥

और आस मन में जो होई।
मनवांछित फल पावे सोई॥

तीनहुं काल ध्यान जो ल्यावै।
तुलसी दल अरु फूल चढ़ावै॥

साग पत्र सो भोग लगावै।
सो नर सकल सिद्घता पावै॥

अन्त समय रघुबरपुर जाई।
जहां जन्म हरि भक्त कहाई॥

श्री हरिदास कहै अरु गावै।
सो बैकुण्ठ धाम को पावै॥

॥ दोहा॥
सात दिवस जो नेम कर, पाठ करे चित लाय।
हरिदास हरि कृपा से, अवसि भक्ति को पाय॥

राम चालीसा जो पढ़े, राम चरण चित लाय।
जो इच्छा मन में करै, सकल सिद्घ हो जाय॥

8. Rama Rama Ratate Ratae Beeti Re Umariya रामा रामा रटते रटते बीती रे उमरिया Bhajan Lyrics

Singer – Rajan Jee

रामा रामा रटते रटते बीती रे उमरिया ।
रघुकुल नंदन कब आओगे भिलनी की नगरिया ।।

मैं शबरी भिलनी की जाई, भजन भाव ना जानु रे ।
राम तेरे दर्शन के कारण वैन में जीवन पालूं रे ।
चरणकमल से निर्मल करदो दासी की झोपड़िया ।।

रोज सवेरे वन में जाकर फल चुन चुन के लाऊंगी ।
अपने प्रभु के सन्मुख रख के प्रेम से भोग लगाउंगी ।
मीठे मीठे बेरन की मैं भर लाई छबरिया ।।

श्याम सलोनी मोहिनी मूरत नैयन बीच बसाऊंगी ।
पद पंकज की रज धर मस्तक जीवन सफल बनाउंगी ।
अब क्या प्रभु जी भूल गए हो दासी की डगरिया ।।

नाथ तेरे दर्शन की प्यासी मैं अबला इक नारी हूँ।
दर्शन बिन दोऊ नैना तरसें सुनलो बहुत दुखारी हूँ ।
हीरा रूप से दर्शन देदो डालो एक नजरिया ।।

9. Hey Ram Hey Ram हे राम हे राम Bhajan Lyrics

Singer – Jagjit Singh

(हे राम, हे राम
हे राम, हे राम)
जग में साचो तेरो नाम
(हे राम, हे राम
हे राम, हे राम)

तू ही माता, तू ही पिता है
(तू ही माता, तू ही पिता है)
तू ही माता, तू ही पिता है
(तू ही माता, तू ही पिता है)
तू ही तो है, राधा का श्याम
हे राम, हे राम

तू अंतर्यामी, सबका स्वामी
(तू अंतर्यामी, सबका स्वामी)
तू अंतर्यामी, सबका स्वामी
(तू अंतर्यामी, सबका स्वामी)
तेरे चरणों में, चारो धाम
हे राम, हे राम
हे राम, हे राम

तू ही बिगड़े, तू ही सवारे
(तू ही बिगड़े, तू ही सवारे)
तू ही बिगड़े, तू ही सवारे
(तू ही बिगड़े, तू ही सवारे)
इस जग के, सारे काम
(हे राम, हे राम
हे राम, हे राम)

तू ही जगदाता, विश्वविधता
(तू ही जगदाता, विश्वविधता)
तू ही जगदाता, विश्वविधता
(तू ही जगदाता, विश्वविधता)
तू ही सुबह, तू ही शाम
(हे राम, हे राम
हे राम, हे राम)

(हे राम, हे राम
हे राम, हे राम)
जग में साचो तेरो नाम
(हे राम, हे राम
हे राम, हे राम)

10. Mangal Bhavan Amangal Haari मंगल भवन अमंगल हारी Bhajan Lyrics

Singer – Rakesh Kala

हो.. मगंल भवन अमंगल हारी
द्रबहु सु दशरथ अचर बिहारी
राम सिया राम सिया राम जय जय राम
राम सिया राम सिया राम जय जय राम

हो.. होई हैं वोही जो राम रची राखा
को करी तरक बढ़ावे साखा
राम सिया राम सिया राम जय जय राम
राम सिया राम सिया राम जय जय राम

हो.. धिरज धरम मित्र अरु नारी
आपद काल परखिये चारि
(राम सिया राम सिया राम जय जय राम, राम
राम सिया राम सिया राम जय जय राम)

हो.. जेहिके जेहि पर सत्य सनेहू
सो तेहि मिलय ना कछु संदेहू

(राम सिया राम सिया राम जय जय राम, राम
राम सिया राम सिया राम जय जय राम)

हो.. जाकी रही भावना जैसी
प्रभू मूर्ति देखी तीन तैसी

(राम सिया राम सिया राम जय जय राम, राम
राम सिया राम सिया राम जय जय राम)

हो.. रघुकुल रीत सदा चली आयी
प्राण जाए पर वचन न जायी

(राम सिया राम सिया राम जय जय राम, राम
राम सिया राम सिया राम जय जय राम)

हो.. हरी अनंत हरी कथा अनंता
कहही सुनही बहुविधि सब संता

(राम सिया राम सिया राम जय जय राम, राम
राम सिया राम सिया राम जय जय राम)
राम सिया राम सिया राम जय जय राम

Added by

admin

SHARE

Your email address will not be published.