यहाँ आपको Top 10 Navratri Bhajan Lyrics बेहतरीन नवरात्रि भजन लिरिक्स मिलेंग। यह Top 10 Navratri Bhajan Lyrics बेहतरीन नवरात्रि भजन लिरिक्स सबसे ज्यादा लोकप्रिय तथा सबसे ज्यादा सुने जाने वाले भजन है। हम उम्मीद करते हैं आपको यह Top 10 Navratri Bhajan Lyrics बेहतरीन नवरात्रि भजन लिरिक्स पसंद आएंगे।

About Navratri

यह त्योहार बुराई पर अच्छाई की जीत का जश्न मनाने के लिए दुर्गा और राक्षस महिषासुर के बीच हुई प्रमुख लड़ाई से जुड़ा है। ये नौ दिन पूरी तरह से दुर्गा और उनके नौ अवतारों – नवदुर्गा को समर्पित हैं। प्रत्येक दिन देवी के अवतार से जुड़ा है: पहला दिन – शैलपुत्री। नवरात्रि एक ऐसा समय है जब हिंदू देवी दुर्गा को राक्षस महिषासुर को मारने के लिए मनाते हैं। एक अधिक शक्तिशाली भगवान, भगवान ब्रह्मा ने महिषासुर को उनके समर्पण के कारण अमरता का उपहार दिया था, जिसका अर्थ था कि वह कभी मर नहीं सकता था। नवरात्रि शब्द संस्कृत के दो शब्दों से बना है- ‘नव’ का अर्थ नौ और ‘रात्रि’ का अर्थ रात होता है। नवरात्रि से जुड़ी किंवदंती शक्तिशाली राक्षस महिषासुर और देवी दुर्गा के बीच हुए महान युद्ध के बारे में बताती है।

Top 10 Navratri Bhajan Lyrics | बेहतरीन नवरात्रि भजन लिरिक्स

  1. Aa Maa Aa
  2. Ambe Tu Hai
  3. Maa Ka Dil
  4. Tere Sadke Maa
  5. Suno Suno Ek Kahani
  6. Main Balak Tu Mata
  7. Meri Akhiyon Ke Saamne Hi Rehna
  8. Maiya Ka Chola
  9. Man Leke Aaya Mata Rani Ke Bhawan
  10. Pyara Saja Hai Tera dwaar Bhawani

1. Aa Maa Aa आ मां आ

आ मां आ तुझे दिल ने पुकारा,
दिल ने पुकारा,
तू है मेरा सहारा माँ,
शेरावाली, जोतावाली,
मेहरावाली माँ,
आ मां आ तुझे दिल ने पुकारा ।

प्रेम से बोलो, जय माता दी,
सारे बोलो, जय माता दी,
मिल के बोलो, जय माता दी,
फिर से बोलो, जय माता दी ।

मैंने मन से तेरी पूजा
की है सांझ सवेरे,
मुझ को दर्शन दे के मैया
भाग जगा दे मेरे,
मैया मैया बोले मेरा
मन एक तारा माँ,
आ मां आ तुझे दिल ने पुकारा ।

तूने ही पाला है मुझको
तू ही मुझे संभाले,
तूने ही मेरे जीवन मे,
पल पल किये उजाले,
चरणों मे तेरे मैंने
तन मन वारा माँ,
आ मां आ तुझे दिल ने पुकारा ।

मान ले मेरी विनती मैया
एक झलक दिखला दे,
रूप की शीतल किरणों से
नयनो के द्वार सजा दे,
नो को रूप तेरा
लगता है प्यारा माँ,
आ मां आ तुझे दिल ने पुकारा ।

जय माता दी, जय माता दी,
कष्ट निवारे, शेरो वाली,
पार लगादे, शेरो वाली,
है दुःख हरनी, शेरो वाली,
बिगड़ी बना दे, शेरो वाली ।

प्रेम से बोलो, जय माता दी,
सारे बोलो, जय माता दी,
जोर से बोलो, जय माता दी ।

आ मां आ तुझे दिल ने पुकारा,
दिल ने पुकारा,
तू है मेरा सहारा माँ,
शेरावाली, जोतावाली,
मेहरावाली माँ,
आ मां आ तुझे दिल ने पुकारा ।

2. Ambe Tu Hai अम्बे तू है

अम्बे तू है जगदम्बे काली,
जय दुर्गे खप्पर वाली,
तेरे ही गुण गावें भारती,
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।

तेरे भक्त जनो पर माता भीर पड़ी है भारी।
दानव दल पर टूट पडो माँ करके सिंह सवारी॥
सौ-सौ सिहों से बलशाली, है अष्ट भुजाओं वाली,
दुष्टों को तू ही ललकारती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।

माँ-बेटे का है इस जग मे बडा ही निर्मल नाता।
पूत-कपूत सुने है पर ना माता सुनी कुमाता॥
सब पे करूणा दर्शाने वाली, अमृत बरसाने वाली,
दुखियों के दुखडे निवारती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।

नहीं मांगते धन और दौलत, न चांदी न सोना।
हम तो मांगें तेरे चरणों में छोटा सा कोना॥
सबकी बिगड़ी बनाने वाली, लाज बचाने वाली,
सतियों के सत को सवांरती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।

चरण शरण में खड़े तुम्हारी, ले पूजा की थाली।
वरद हस्त सर पर रख दो माँ संकट हरने वाली॥
माँ भर दो भक्ति रस प्याली, अष्ट भुजाओं वाली,
भक्तों के कारज तू ही सारती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।

3. Maa Ka Dil माँ का दिल

माँ का दिल …माँ का दिल …..

इस से बढ़ के कोई शह भी कोमल नहीं

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

माँ का दिल …माँ का दिल …..

माँ के भक्त जानो थाम के दिल सुनो

माँ के दिल की कहानी सुनाता हूँ मैं

पीड़ा दुःख से घिरी आसुओं से भरी

सच्ची ममता के दर्शन करता हूँ मैं …

दुखिया एक नारी थी भाग्य की मारी थी

सुख देवी था नाम पर सुख न मिला

उसके सिन्दूर को बिंदिया के नूर को

हाय ज़ालिम मुक़दार ने छीन था लिया

एक नूर -ए -नज़र प्यार लक्ठे जिगर

उसकी ममता की चाओ में पलट रहा

माँ की ऊँगली पकड़ चलके इधर उधर

कभी गिरता कभी वह संभालता रहा

माँ को रहता था डर कोई लगे न नज़र ..

काल गाल पे टीका लगाती थी वो

होक बस प्यार के मिर्चो को वार के

जलते चूल्हे में निस दिन गिरती थी वो

उसे आँखों से करती वह ओझल नहीं ..-2

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

माँ का दिल …माँ का दिल …..

कपडे सी सी के वो आंसू पी पी के वो

अपने बेटे पे खुशिया लूटती रही

अब लक़ीबे बसी करके माथा कशी

भूकी खुद रह के उसको खिलते रही -2

दिन गुज़रते रहे रो रो के काट ते रहे

कभी बच्चे को गम न था करने दिया

चाहे लाचार था दुःख से दो चार थी

साया दुखो का उसपे ना पड़ने दिया

मनन में था हौसला था कल को होक बड़ा

मेरे कदमो पे खुशियां बीच देगा यह

अच्छे दिन आएंगे दूर गम जाएंगे

मेरे कांटो को कलियाँ बना देगा यह

आंबे मैया के डर उसका करने शुक्र

साथ बेटे के एक दिन जाउंगी मैं

घर में आये बहु परियों सी हूबहू

मांग मन्नत भवानी से आयुंगी मैं

दूर मुझसे मेर अब तो मंज़िल नहीं -2

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

माँ का दिल …माँ का दिल …..

दे के ममता दुलार जाग कर बेशुमार

रोज़ सपने ही सपने संजोती रही

कभी मुँह छूमती उस को ले झूमती

चाहे परदे में निस दिन ही रोती रही

तारा आखो का वो माँ का प्यारा था जो

वक्त के साथ एक दिन बड़ा हो गया

माँ के बलिदान की कोई कदर ना रही

बुरी संगत की ददल में वो खो गया

एबो से घिर गया इस कदर गिर गया

गालिया तक था माँ को सुनने लगा

महंतो का जो धन एक चंडाल बन

बेहयाई से वो था लुटाने लगा

मैया रोती रही आहे भरी रही

हाय सोचा था क्या और क्या हो गया

सपना टुटा है क्यू भग्य फुट है क्यू

क्यू भलाइयों का बदला बुरा हो गया

चाह जो था हुआ उस को हासिल नही-2

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

माँ का दिल …माँ का दिल …..

वो दुराचारी बन हो गया बदचलन

फास गया लड़की के प्रेम जाल में

जितना चिल्लाती माँ उस को समझती माँ

उतना ज्यादा वो डूब था जंजाल में

रोज लड़की से मिल उसका कहता था दिल

तुझ से शादी रचाने को जी चाहता

तुझे दुल्हन बना डोली में बिठा

घर आपने ले जाने को जी चाहता

तेरे सर की कसम मेरे प्यारे सनम

तेरे बिन अब तो मुझ से जिया जाए ना

तुम को जो करू तुमपे जा वार दू

पर जुदाई का विष ये पिया जाये ना

तेरे बिन अब तो मुझसे जिया जाये न

तुम कहो जो कर तुझपे जान वार दू

पर जुदाई का विश ये पिया जाये न ..2

लड़की ने कहा गर मुझसे वफ़ा

दिल अपनी तू माँ के मुझे ला के दे

जो तू इतना करे मेरा वडा है ये

तो मई जाउंगी शान से घर में तेरे

बड़ा आसान है काम मुश्किल नहीं ..2

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं..२

माँ का दिल …माँ का दिल …..

अँधा हो प्यार में झूठे ऐतबार में

हाय लेके छुरी अपने घर आ गया

माँ के o कुछ न पता होने वाला है क्या

बीटा ढाने को क्या है कहर आ गया ..2

माँ ने रोज़ की तरह कहना लेक दिया

और सौ सौ दुआए भी डेन लगी

लाल समझो मेरे सड़के जाऊं तेरे

सच्ची ममता बालाएं थी लेने लगी

बता शैतान था हुआ हैवान था

झूठी उल्फत माँ की खुसी जल गयी

जनम जिसने दिया दूध जिसका पिया

उसके दिल पे ही उसकी छुरी चल गयी ..2

खून माँ का पियो बीटा जुग जुग जियो

तेरी हरकत से माता का मन खिल गया

मरते मरते यही माँ ने आवाज दी

मेरी ममता का मुझको सील मिल गया

अपने कातिल को समझे जो कातिल नहीं ..2

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

माँ का दिल …माँ का दिल …..

बेहया बेरहम करके ऐसा कर्म

भागा लड़की के घर था चला जा रहा

जो था वादा किया वो निभा है दिया

अपनी मक्कारी पर था वो इत्र रहा ..2

चलते चलते तभी उसको ठोकर लगी

और धरती पे मुँह के वो बल गिर गया

हाथो से फिसल गया माँ का वो दिल

इतना माँ की दुआओ का फल गिर गया

बोला माता का दिल मेरे लाल संभल

कोई तेरी वफ़ा में खोंट तो नहीं

तेरा होए रे भला मुझे सच सच बता

कही तुझ को लगी कोई चोंट तो नहीं ..2

मेरे दिल को उठा दिल को दिल से लगा

इस दिल में बड़ा प्यार तेरे लिए

दिल हरदम मेरा देता दिल से दुआ

दिल ये कुर्बान सौ बार तेरे लिए

माँ रहें दिल है तुझ जैसी संघ दिल नहीं

माँ रहें दिल है तुझ जैसी संघ दिल नहीं

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

माँ का दिल …माँ का दिल …..

लेके थोड़ा सा डैम बेअकल बेशरम

दिल माँ का उठा के चला वो गया

खूंखार वो पशु दाल माँ का लहू

करना रौशन वो चाहे वफ़ा का दिया

करना रौशन वो चाहे वफ़ा का दिया

प्रेमिका के वो घर फक्र से पहुचकर

बोला माँ का ये दिल मैं लाया मेरी जान

इस जहाँ में कही कोई मुझसे नहीं

पास कर लिया मैंने ये इम्तेहान

पागलपन देखकर बोली वो चीख कर

अरे वहशी दरिंदे ye क्या कर दिया

धरती फैट जाएगी प्रलय आ जाएगी

तूने ममता को जग में तबाह कर दिया ..2

तेरे जैसे अगर हुए और भी बशर

माँ बेटो को जनम न देगी कभी

रोना आता मुझे लाख लानत तुझे

मेरे घर से ओ जालिम निकल जा अभी

तू मेरे प्यार के अब तो काबिल नहीं

तू मेरे प्यार के अब तो काबिल नहीं

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

माँ का दिल …माँ का दिल …..

उसकी फटकार से लानतों की मार से

सर पिट के कलंकी वो रोने लगा

मैंने क्या कर दिया खून माँ का किया

अपने किये पे शर्म सार होने लगा

अपने किये पे शर्म सार होने लगा

माँ का दिल देख कर माथे को टेककर

बोला हे जननी मैया मुझे माफ़ कर

मैं हु पापी बड़ा झुक सर है खड़ा

हो सके तो ये चोला मेरा सार कर

अब मैं जाऊं कहा मुह छुपाऊ कहा

मैंने खुद को गुनाहों में कर्क क्र लिया

तू तो निर्दोष माँ तूने कुछ न किया

मैंने जीवन ये अपना नरक कर ..2

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

माँ का दिल …माँ का दिल …..

जो किया सोच कर बालो को नोच कर

वो जमी पे था सर को पटकने लगा

लोग धिक्कारते पत्थर भी मारते

वो पागल हो दर दर भटकने लगा

सभी कहते ये माफ़ी के काबिल नहीं

सभी कहते ये माफ़ी के काबिल नहीं

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

बेड़ियो में जकड पुलिस ले गयी पकड़

मौत सामने कड़ी देख कर वो डर गया

खौफ इतना बढ़ जो वो सह न सका

पागल खाने में रो रो के वो मर गया ..2

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

माँ का दिल …माँ का दिल …..

माँ के भक्तो सुनो इससे कुछ सबक लो

दिल भूले से माँ का दुखाना नहीं

ये समझ लो सभी माँ नेआह जो भरी

लोक परलोक कही भी ठिकाना नहीं

आंबे माँ के भवन पीछे रखना कदम

पहले घर बैठी माँ के चरण चुम लो

उसका आशीष ले ममता चुनरी टेल

सच्ची जन्नत के करके दरश झूम लो ..2

घर में भूखी है माँ बहार लंगर लगा

ऐसा इस कभी बक्शे जाते नहीं

माँ को पीड़ा से भर जा के दाती के घर

शेरो वाली का वो प्यार पते नहीं

माँ सा निर्दोष गुरु कोई कामिल नहीं ..2

माँ के दिल जैसा दुनिया में कोई दिल नहीं ..2

माँ का दिल …माँ का दिल …..

4. Tere Sadke Maa तेरे सदके माँ

सदके तेरे मैं सदके तेरे मैं शेरावाली माँ,
वारि जावा मैं वारि जावा मैं मेहरवाली माँ,

शेरावाली माँ मेहरवाली माँ,
तेरा शुक्र करा लखवार नचदी आवा तेरे द्वार,
आ गई खुशियां दी बहार शेरावाली माँ,
मैं तेरे सदके माँ

दर तेरे दी शान निराली नित लगदे भगता दे मेले,
जावे न कोई दर तो खाली माँ वंडे खुशिया दे वेले,
सच्चा है तेरा दरबार तेरी माया अप्रम पार,
माये तेरी जय जय कार शेरावाली माँ,
मैं तेरे सदके माँ,

तेरियां जयोता ने चानन किता हो गए दूर हनेरे,
क्यों ना माँ मैं जश्न मनावा सब मिलिया दर तो तेरे,
साड़ी तेरे नाल बाहर फेरा पाजा तू इक बार,
बारी जावा बाराम बार,शेरावाली माँ मैं तेरे सदके माँ,

तेरी दया दे फूल खिड़े ने मेहकन साढे वेले,
बचिया नु तू प्यार है करदी रखदी दिल दे नेड़े,
माये तू है तारण हार करदी पल विच वेडा पार ,
दिते लखा ही तू तार ,
मेहरवाली माँ मैं तेरे सदके माँ

5. Suno Suno Ek Kahani

सुनो सुनो, सुनो सुनो
सुनो सुनो एक कहानी सुनो
सुनो सुनो एक कहानी सुनो

ना राजा की, ना रानी की
ना आग हवा, ना पानी की
ना कृष्णा की, ना राधा रानी की

दूध छलकता है आँचल से हो
दूध छलकता है आँचल से
आँख से बरसे पानी
माँ की ममता की है ये कहानी
सुनो सुनो एक कहानी सुनो

(संगीत)

एक भक्त जो दिन हिन था कटरे में रहता था
माँ के गुण गाता था माँ के चरण सदा कहता था

सुनो सुनो, सुनो सुनो

एक बार भैरव ने उससे कहा की कल आएंगे
कई साधुओ सहित तुम्हारे घर खाना खाएंगे

माँ के भक्त ने सोचा कैसे उनका आदर होगा
बिन भोजन के साधुजनों का बड़ा निरादर होगा

सुनो सुनो, सुनो सुनो

माता से विनती की उसने अन्न कहाँ से लाऊँ
मैं तो खुद भूखा हूँ भोजन कैसे उन्हें खिलाऊँ

माँ ने कहा तू चिंता मत कर कल तु उन्हें बुलाना
उनके साथ ये सारा गाँव खाएगा तेरा खाना

सुनो सुनो, सुनो सुनो

नमन किया उसने माता को आ गया घर बेचारा
दूजे दिन देखा क्या उसने भरा है सब भंडारा

सुनो सुनो, सुनो सुनो

उस भैरव ने जिसने ये सारा षडयंत्रा रचाया
कई साधुओ सहित जीमने घर उसके वो आया

अति शुद्ध भोजन को देख के बोला माँस खिलाओ
जाओ हमारे लिए कहीं से मदिरा ले कर आओ

सुनो सुनो, सुनो सुनो

आग बबूला हो गया जब उसने देखा भंडारा
क्रोध से भरके जोर से उसने माता को ललकारा

माँ आई तो उसने कस के माँ के हाथ को पकड़ा
हाथ छुड़ा कर भागी माता देख रहा था कटरा

अपनी रक्षा की खातिर एक चमत्कार दिखलाया
वो अस्थान छुपी जहा माता गर्भजून कहलाया

नो मास का छुपकर माँ ने वही समय गुजारा
समय हुआ पूरा तब माँ ने भैरव को संहारा

धड़ से सर को जुदा किया थी ज्वाला माँ के अंदर
जहा गिरा सर भैरब का वहां बना है भैरव मंदिर

सुनो सुनो, सुनो सुनो

अपरम्पार है माँ की महिमा जो कटरे में आये
माँ के दर्शन करके फिर भैरव के मंदिर जाए

सुनो सुनो सुनो सुनो
सुनो सुनो सुनो सुनो

माँ शेरवालिये, माँ ज्योतावलिये
माँ मेहरावलिये, माँ लाटावालिये
माँ शेरवालिये, माँ ज्योतावलिये
माँ मेहरावलिये, माँ लाटावालिये

हे माँ शेरावालिये
माँ ज्योतावलिये
माँ मेहरावलिये
माँ लाटावालिये

जय माता दी
जय माता दी
जय माता दी
जय माता दी

6. Main Balak Tu Mata मैं बालक तू माता

मैं बालक तू माता शेरावालिए,
है अटूट ये नाता शेरावालिए,
शेरा वालिए माँ, पहाड़ा वालिए माँ,
मेहरा वालिए माँ, ज्योतां वालिए माँ ।
मैं बालक तू माता शेरावालिए,
है अटूट ये नाता शेरावालिए ।

तेरी ममता मिली है मुझको,
तेरा प्यार मिला है,
तेरे आँचल की छाया में,
मन का फूल खिला है ।
तुने बुद्धि, तुने साहस,
तुने बुद्धि, तुने साहस,
तुने ज्ञान दिया,
मस्तक ऊँचा करके,
जीने के वरदान दिया माँ ।
तू है भाग्य विधाता शेरावालिए,
मैं बालक तू माता शेरावालिए,
शेरा वालिए माँ, पहाड़ा वालिए माँ,
मेहरा वालिए माँ, ज्योतां वालिए माँ ।
मैं बालक तू माता शेरावालिए,
है अटूट ये नाता शेरावालिए ।

जब से दो नैनो में तेरी,
पावन ज्योत समायी,
मंदिर मंदिर तेरी मूरत,
देने लगी दिखाई ।
ऊँचे पर्वत पर मैंने भी,
ऊँचे पर्वत पर मैंने भी,
डाल दिया है डेरा,
निशदिन करे जो तेरी सेवा,
मैं वो दास हूँ तेरा ।
रहूँ तेरे गुण गाता शेरावालिए,
मैं बालक तू माता शेरावालिए,
शेरा वालिए माँ, पहाड़ा वालिए माँ,
मेहरा वालिए माँ, ज्योतां वालिए माँ ।

मैं बालक तू माता शेरावालिए,
है अटूट ये नाता शेरावालिए,
शेरा वालिए माँ, पहाड़ा वालिए माँ,
मेहरा वालिए माँ, ज्योतां वालिए माँ ।
मैं बालक तू माता शेरावालिए,
है अटूट ये नाता शेरावालिए ।

7. Meri Akhiyon Ke Saamne Hi Rehna मेरी अंखियों के सामने ही रहना

मेरी अंखियों के सामने ही रहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे
मेरी अंखियों के सामने ही रहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे

मेरी अंखियों के सामने ही रहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे
मेरी अंखियों के सामने ही रहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे

हम तो चाकर मैया तेरे दरबार के
हम तो चाकर मैया तेरे दरबार के
हम तो चाकर मैया तेरे दरबार के
हम तो चाकर मैया तेरे दरबार के

हो भूखे हैं हम तो मैया
भूखे हैं हम तो मैया बस तेरे प्यार के

मेरी अंखियों के सामने ही रहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे
मेरी अंखियों के सामने ही रहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे

मेरी अंखियों के सामने ही रहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे
मेरी अंखियों के सामने ही रहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे

विनती हमारी भी अब करो मंज़ूर माँ
विनती हमारी भी अब करो मंज़ूर माँ
विनती हमारी भी अब करो मंज़ूर माँ
विनती हमारी भी अब करो मंज़ूर माँ

हो चरणों से हमको कभी
चरणों से हमको कभी करना ना दूर माँ

मेरी अंखियों के सामने ही रहना
माँ शेरों वाली जगदम्बे
मेरी अंखियों के सामने ही रहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे

मेरी अंखियों के सामने ही रहना
माँ शेरों वाली जगदम्बे
मेरी अंखियों के सामने ही रहना
माँ शेरों वाली जगदम्बे

मुझे जान के अपना बालक सब भूल तू मेरी भुला देना
मुझे जान के अपना बालक सब भूल तू मेरी भुला देना
माँ मुझे जान के अपना बालक सब भूल तू मेरी भुला देना
मुझे जान के अपना बालक सब भूल तू मेरी भुला देना

ओ शेरों वाली जगदम्बे
ओ शेरों वाली जगदम्बे आँचल में मुझे छिपा लेना

मेरी अंखियों के सामने ही रहना
माँ शेरों वाली जगदम्बे
मेरी अंखियों के सामने ही रहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे

ओ मेरी अंखियों के सामने ही रहना
माँ शेरों वाली जगदम्बे
मेरी अंखियों के सामने ही रहना
माँ शेरों वाली जगदम्बे

(संगीत)

तुम हो शिव जी की शक्ति मैया शेरों वाली
तुम हो शिव जी की शक्ति मैया शेरों वाली
तुम हो शिव जी की शक्ति, मेरे भोले की
हो मेरे भोले की शक्ति मैया शेरों वाली
मेरे भोले की शक्ति मैया शेरों वाली

तुम हो दुर्गा हो अम्बे मैया तुम हो काली
तुम हो दुर्गा हो अम्बे मैया तुम हो काली

बन के अमृत की
हो बनके अमृत की धार सदा बहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे
हो बनके अमृत की धार सदा बहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे

मेरी अंखियों के सामने ही रहना
माँ शेरों वाली जगदम्बे
मेरी अंखियों के सामने ही रहना
माँ शेरों वाली जगदम्बे

तेरे बालक को तभी माँ सबर आए
तेरे बालक को तभी माँ सबर आए
तेरे बालक को हाँ हाँ, तेरे बालक को मैया
तेरे बालक को तभी माँ सबर आए
तेरे बालक को तभी माँ सबर आए

जहाँ देखूं माँ तू ही तू नज़र आये
हो जहाँ देखूं माँ तू ही तू नज़र आये

मुझे इसके
मुझे इसके सीवे कुछ ना कहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे
मुझे इसके सीवे कुछ ना कहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे

मेरी अंखियों के सामने ही रहना
माँ शेरों वाली जगदम्बे
मेरी अंखियों के सामने ही रहना
माँ शेरों वाली जगदम्बे

देदो शर्मा को भक्ति का दान मैया जी
देदो भक्तो को भक्ति का दान मैया जी
देदो शर्मा को हाँ हाँ, अपने शर्मा को माता
अपने शर्मा को भक्ति का दान मैया जी
देदो भक्तो को भक्ति का दान मैया जी

लक्खा गाता रहे तेरा गुणगान मैया जी
लक्खा गाता रहे तेरा गुणगान मैया जी

है भजन तेरा
है भजन तेरा भक्तो का गहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे
है भजन तेरा भक्तो का गहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे

ओ शेरों वाली जगदम्बे
मेरी अंखियों के सामने ही रहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे
मेरी अंखियों के सामने ही रहना
ओ शेरों वाली जगदम्बे

ओ मेहरो वाली जगदम्बे
ओ शेरों वाली जगदम्बे
ओ मेहरो वाली जगदम्बे
ओ शेरों वाली जगदम्बे

जय माता दी
जय माता दी
जय माता दी
जय माता दी

8. Maiya Ka Chola मैया का चोला

लाली मेरी मात की जित देखु तीत लाल,
लाली देखन मै गया मै भी हो गया लाल…………
मैया का चोला है रंगला,
शेरोवाली का चोला है रंगला,
मेहरोवाली का चोला है रंगला,
जोतावाली का चोला है रंगला,
अम्बे रानी का चोला है रंगला,
माँ वैष्णो का चोला है रंगला,
हो भवन मैया का लाल
चोला है रंगला रंगला रंगला रंगला,
मैया का चोला है रंगला……

सुआ चोला अंग बिराजे,
सुआ चोला अंग बिराजे,
सुआ सुआ चोला अंग बिराजे,
लगी किनारी लाल चोला है रंगला रंगला रंगला,
मैया का चोला है रंगला….

सिर सोने का छत्र बिराजे,
सिर सोने का छत्र बिराजे,
हीरे अपरम्पार चोला है रंगला रंगला रंगला,
मैया का चोला है रंगला…..

अश्विन चैत महीना आवे,
अश्विन चैत महीना आवे,
चले पवन की चाल चोला है रंगला रंगला रंगला,
मैया का चोला है रंगला….

पान सुपारी ध्वजा नारियल,
पान सुपारी ध्वजा नारियल,
माँ की भेंट चढ़ा चोला है रंगला रंगला रंगला,
मैया का चोला है रंगला….

शेरोवाली माता मेरी,
हो शेरोवाली माता मेरी,
मेहरोवाली माता मेरी,
मेहरोवाली माता मेरी,
सबको करे निहाल चोला है रंगला रंगला रंगला,
मैया का चोला है रंगला….

मैया का चोला है रंगला,
शेरोवाली का चोला है रंगला,
मेहरोवाली का चोला है रंगला,
जोतावाली का चोला है रंगला,
अम्बे रानी का चोला है रंगला,
माँ वैष्णो का चोला है रंगला,
हो भवन मैया का लाल,
चोला है रंगला रंगला रंगला रंगला……

9. Man Leke Aaya Mata Rani Ke Bhawan मन लेके आया माता रानी के भवन में

मन लेके आया
माता रानी के भवन में,
बड़ा सुख पाया,
बड़ा सुख पाया,
माता रानी के भवन में,
मन लेके आया
माता रानी के भवन में ।

जय जय माँ, अम्बे माँ
जय जय माँ, जगदम्बे माँ
जय जय माँ, अम्बे माँ
जय जय माँ, जगदम्बे माँ

मैं जानू वैष्णव माता,
तेरे ऊँचे भवन की माया,
भैरव पर क्रोध में आके,
माँ तूने त्रिशूल उठाया ।
वो पर्वत जहां पे तूने,
शक्ति का रूप दिखाया,
भक्तो ने वही पे मैया,
तेरे नाम का भवन बनाया ।
बड़ा सुख पाया,
बड़ा सुख पाया,
माता रानी के भवन में,
मन लेके आया
माता रानी के भवन में ।

जय जय माँ, अम्बे माँ
जय जय माँ, जगदम्बे माँ

तेरे तेज ने ज्वाला मैया,
जब उजियारा फैलाया,
शाह अकबर नंगे पैरों,
तेरे दरबार में आया ।
तेरी जगमग ज्योत के आगे,
श्रद्धा से शीश झुकाया,
तेरे भवन की शोभा देखी,
सोने का क्षत्र चढ़ाया ।
बड़ा सुख पाया,
बड़ा सुख पाया,
माता रानी के भवन में,
मन लेके आया
माता रानी के भवन में ।

जय जय माँ, अम्बे माँ
जय जय माँ, जगदम्बे माँ

हे चिंतपूर्णी माता,
तेरी महिमा सबसे न्यारी,
दिए भाईदास को दर्शन,
तू भक्तो की है प्यारी ।
जो करे माँ तेरा चिंतन,
तू चिंता हर दे सारी,
तेरे भवन से झोली भरके,
जाते हैं सभी पुजारी ।
बड़ा सुख पाया,
बड़ा सुख पाया,
माता रानी के भवन में,
मन लेके आया
माता रानी के भवन में ।

जय जय माँ, अम्बे माँ
जय जय माँ, जगदम्बे माँ

माँ नैना देवी तूने,
यह नाम भगत से पाया,
नैना गुज्जर को तूने,
सपने में दरश दिखाया ।
आदेश पे तेरे उसने,
तेरा मंदिर बनवाया,
जीवन भर बैठ भवन में,
माँ तेरा ही गुण गया ।
बड़ा सुख पाया,
बड़ा सुख पाया,
माता रानी के भवन में ।

मन लेके आया
माता रानी के भवन में,
बड़ा सुख पाया,
बड़ा सुख पाया,
माता रानी के भवन में,
मन लेके आया
माता रानी के भवन में ।

जय जय माँ, अम्बे माँ
जय जय माँ, जगदम्बे माँ
जय जय माँ, अम्बे माँ
जय जय माँ, जगदम्बे माँ

10. Pyara Saja Hai Tera dwaar Bhawani प्यारा सजा है द्वार भवानी

दरबार तेरा दरबारों में,
एक ख़ास अहमियत रखता है,
उसको वैसा मिल जाता है,
जो जैसी नियत रखता है।

बड़ा प्यारा सजा है द्वार भवानी,
भक्तों की लगी है कतार भवानी,
तेरे भक्तों की लगी है कतार भवानी।।

ऊँचे पर्वत भवन निराला,
आके शीश नवावे संसार भवानी,
शीश निवावे संसार भवानी,
बड़ा प्यारा सजा है द्वार भवानी।।

जगमग जगमग ज्योत जगे है,
तेरे चरणों में गंगा की धार भवानी,
चरणों में गंगा की धार भवानी,
तेरे भक्तों की लगी है कतार भवानी।।

लाल चुनरिया लाल लाल चूड़ा,
गले लाल फूलों के सोहे हार भवानी,
लाल फूलों के सोहे हार भवानी,
बड़ा प्यारा सजा है द्वार भवानी।।

सावन महीना मैया झूला झूले,
देखो रूप कंजको का धार भवानी,
रूप कंजको का धार भवानी,
बड़ा प्यारा सजा है द्वार भवानी।।

पल में भरती झोली खाली,
तेरे खुले दया के भण्डार भवानी,
खुले दया के भण्डार भवानी,
तेरे भक्तों की लगी है कतार भवानी।।

लख्खा को है तेरा सहारा माँ,
हम सब को है तेरा सहारा,
करदे अपने सरल का बेडा पार भवानी,
करदे सरल का बेडा पार भवानी,
बड़ा प्यारा सजा है द्वार भवानी।।

बड़ा प्यारा सजा है द्वार भवानी,
भक्तों की लगी है कतार भवानी,
तेरे भक्तों की लगी है कतार भवानी।।

Added by

admin

SHARE

Your email address will not be published.