यहाँ आपको Top 10 हिन्दी Bhajan के लिरिक्स मिलेंग। यह Top 10 भजन सबसे ज्यादा लोकप्रिय तथा सबसे ज्यादा सुने जाने वाले भजन है। हम उम्मीद करते हैं आपको यह Top 10 भजन लिरिक्स पसंद आएंगे।

Top 10 Hindi Bhajan Lyrics हिन्दी भजन लिरिक्स

1. Akhiya Hari Darshn Ki Pyasi अखियाँ हरी दर्शन की प्यासी Bhajan Lyrics

Singer – Jagjit Singh

अखियाँ हरी दर्शन की प्यासी ।

देखियो चाहत कमल नैन को,
निसदिन रहेत उदासी ।

आये उधो फिरी गए आँगन,
दारी गए गर फँसी ।

केसर तिलक मोतीयन की माला,
ब्रिन्दावन को वासी ।

काहू के मन की कोवु न जाने,
लोगन के मन हासी ।

सूरदास प्रभु तुम्हारे दरस बिन,
लेहो करवट कासी ।

2. Giridhar Aage Nachungi गिरिधर आगे नचुनगी Bhajan Lyrics

Singer – Sanjeevani Bhelande

नचुंगी नचुंगी मैं तो नचुंगी
मैने तो गिरिधर आगे नचुनगी
हो मैंने तो गिरिधर आगे नचुनगी
नचुंगी नचुंगी मैं तो नचुंगी

नच नच पिया रसिक री-झौंगिक
प्रीत पुराणन जचुंगिक
नचुंगी नचुंगी

नचुंगी नचुंगी मैं तो नचुंगी
मैने तो गिरिधर आगे नचुनगी
हो मैंने तो गिरिधर आगे नचुनगी
नचुंगी नचुंगी मैं तो नचुंगी

प्रेम प्रीत के बंद घुंघरिया
मोहन म्हारो सचो रे

नचुंगी नचुंगी मैं तो नचुंगी
मैने तो गिरिधर आगे नचुनगी
हो मैंने तो गिरिधर आगे नचुनगी
नचुंगी नचुंगी मैं तो नचुंगी

लोक लाज कुल की मरियाडा
ये मैं एक ना रखूंगी
पिवा के पलंगा जा पदुंगी
मीरा हरि रंग रचुंगी
नचुंगी नचुंगी

नचुंगी नचुंगी मैं तो नचुंगी
मैने तो गिरिधर आगे नचुनगी
हो मैंने तो गिरिधर आगे नचुनगी
नचुंगी नचुंगी मैं तो नचुंगी

3. Hare Rama Hare Krishna हरे रामा हरे कृष्णा Bhajan Lyrics

Singer – Jubin Nautiyal

मधुर मुक्त मुरली हरि हाथ भाये
हरि दुख हरे जो हरि शरण आए

मधुर मुक्त मुरली हरि हाथ भाये
हरि दुख हरे जो हरि शरण आए

हरि दुख हरता हरि सुख करता
हरि हरि हर नाम जपना

हरे कृष्णा हरे कृष्णा
कृष्णा कृष्णा हरे हरे
हरे रामा हरे रामा
हरे रामा हरे हरे

हरे कृष्णा हरे कृष्णा
कृष्णा कृष्णा हरे हरे
हरे रामा हरे रामा
हरे रामा हरे हरे

श्याम तेरी मुरली मधुर धुन सुनाये
पनघट पे राधा खड़ी मुस्कुराये

हां श्याम तेरी मुरली मधुर धुन सुनाए
पनघट पे राधा खड़ी मुस्कुराये
हरि जगत के पालन हारी
माखन चोर हैं कृष्ण मुरारी

हरि दुख हरता हरि सुख करता
हरि हरि हर नाम जपना

हरे कृष्णा हरे कृष्णा
कृष्णा कृष्णा हरे हरे
हरे रामा हरे रामा
हरे रामा हरे हरे

हरे कृष्णा हरे कृष्णा
कृष्णा कृष्णा हरे हरे
हरे रामा हरे रामा
हरे रामा हरे हरे

गोविंद बोलो चाहे गोपाला बोलो
बंसीधर बोलो चाहे ब्रिज ग्वाला बोलो
गोविंद बोलो चाहे गोपाला बोलो
बंसीधर बोलो चाहे ब्रिज ग्वाला बोलो

गिरधारी बनवारी कान्हा कन्हैया
नंदलाला गोपाला मोहन कन्हैया
नंद किशोर कुंवर हरि नटवर
बांके बिहारी गोविंदा गिरिधर
केशव माधव श्याम मुरारी
नटवर नट नागर गिरधारी

हरि दुख हरता हरि सुख करता
हरि हरि हर नाम जपना

हरे कृष्णा हरे कृष्णा
कृष्णा कृष्णा हरे हरे
हरे रामा हरे रामा
हरे रामा हरे हरे

हरे कृष्णा हरे कृष्णा
कृष्णा कृष्णा हरे हरे
हरे रामा हरे रामा
हरे रामा हरे हरे

4. Om Jai Jagdish Hare ॐ जय जगदीश हरे Bhajan Lyrics

Singer – Anuradha Paudwal

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी ! जय जगदीश हरे ।
भक्त / दास जनों के संकट, दास जनों के संकट
क्षण में दूर करे ॥
ॐ जय जगदीश हरे…

जो ध्यावे फल पावे, दुःख विनसे मन का,
स्वामी दुःख विनसे मन का ।
सुख सम्पत्ति घर आवे, कष्ट मिटे तन का ॥
ॐ जय जगदीश हरे…

मात-पिता तुम मेरे, शरण गहूँ मैं किसकी,
स्वामी शरण गहूँ मैं किसकी ।
तुम बिन और न दूजा, प्रभु बिन और न दूजा
आस करूँ मैं जिसकी ॥
ॐ जय जगदीश हरे…

तुम पूरण परमात्मा, तुम अन्तर्यामी,
स्वामी तुम अन्तर्यामी ।
पारब्रह्म परमेश्वर, तुम सबके स्वामी ॥
ॐ जय जगदीश हरे…

तुम करुणा के सागर, तुम पालन-कर्ता,
स्वामी तुम पालन-कर्ता ।
मैं मूरख खल कामी, मैं सेवक तुम स्वामी,
कृपा करो भर्ता॥
ॐ जय जगदीश हरे…

तुम हो एक अगोचर, सबके प्राणपति,
स्वामी सबके प्राणपति ।
किस विधि मिलूँ दयामय , तुमको मैं कुमति ॥
ॐ जय जगदीश हरे…

दीनबन्धु दुखहर्ता, तुम ठाकुर मेरे,
स्वामी तुम रक्षक मेरे ।
अपने हाथ उठा‌ओ, अपनी शरण लगाओ,
द्वार पड़ा मैं तेरे ॥
ॐ जय जगदीश हरे…

विषय-विकार मिटा‌ओ, पाप हरो देवा,
स्वामी कष्ट हरो देवा ।
श्रद्धा-भक्ति बढ़ा‌ओ, श्रद्धा-प्रेम बढ़ा‌ओ,
सन्तन की सेवा ॥
ॐ जय जगदीश हरे…

तन मन धन सब है तेरा,
स्वामी सब कुछ है तेरा ।
तेरा तुझको अर्पण, क्या लागे मेरा ॥
ॐ जय जगदीश हरे…

श्री जगदीश जी की आरती, जो कोई नर गावे,
स्वामी जो कोई नर गावे ।
कहत शिवानन्द स्वामी, सुख संपत्ति पावे ॥
ॐ जय जगदीश हरे…

ॐ जय जगदीश हरे, स्वामी ! जय जगदीश हरे ।
भक्त जनों के संकट, क्षण में दूर करे ॥

5. Raghupathi Raghava Raja Ram रघुपति राघव राजाराम Bhajan Lyrics

Singer – Trisha Parui

रघुपति राघव राजा राम

पतित पावन सीताराम

सीताराम, सीताराम,

भज प्यारे मन सीताराम

रघुपति राघव राजा राम

पतित पावन सीताराम

ईश्वर अल्लाह तेरो नाम,

सबको सनमती दे भगवान

रघुपति राघव राजा राम

पतित पावन सीताराम

मुखमै तुलसी घाट म राम,

जब बोलो ताब सीताराम

रघुपति राघव राजा राम

पतित पावन सीताराम

हाथो से करो घरका काम,

मुखासे बोलो सीताराम

रघुपति राघव राजा राम

पतित पावन सीताराम

कौसल्याका वला राम,

दशरथजिका प्यारे राम

रघुपति राघव राजा राम

पतित पावन सीताराम

बंसीवाला हे घनश्याम,

धनुष्य धारी सीताराम

रघुपति राघव राजा राम

पतित पावन सीताराम

6. Hey Govind He Gopal हे गोविन्द हे गोपाल Bhajan Lyrics

Singer – Jagjit Singh

हे गोविन्द हे गोपाल अब तो जीवन हारे ।
अब तो जीवन हारे प्रभु शरण है तिहारे… हे गोविंद ॥

नीर पीवण हेतु गयो सिन्धू के किनारे
सिन्धू के बीच बसत ग्राह चरण ले पधारे
हे गोविन्द हे गोपाल…

चार प्रहर युद्ध भयो ले गयो मझधारे
नाक कान डूबण लागे कृष्ण को पुकारे
हे गोविन्द हे गोपाल…

द्वारिका में शब्द गयो शोर भयो भारी
शंख चक्र गदा पदम गरुङ ले सिद्धाये
हे गोविन्द हे गोपाल…

सूर कहे श्याम सुनो शरण हैं तिहारे
अबकी बेर पार करो नन्द के दुलारे
हे गोविन्द हे गोपाल…
॥ ॐ नमो भगवते वासुदेवाय ॥

7. Hey Bhole Shankar Padhaaro हे भोले शंकर पधारो Bhajan Lyrics

Singer – Hariharan

हे भोले ही भोले
शंकर पधारो
हे भोले शम्भू पधारो
बैठे चुप के कहा
जाता धारी पधारो
बैठे चुप के कहा
गंगा जटा में तुम्हारी
हो हो गंगा
जटा में तुम्हारी
हम प्यासे यहाँ
महा सती के पति
मेरी सुनो भंडाना

हे भोले शंकर पधारो
बोलो छुपे हो कहा
औ मुक्ति के दाता हो
औ मुक्ति के दाता
पड़ा संकट यहाँ
महा सती के पति
बोलो छुपे हो कहा
हे भोले

भगीरत को गंगा
प्रभु तूने दे थी
सदर जी के पुत्रों को मुक्ति मिली
नील कंठ महादेव
हुए है भरोसा
ीचा तुम्हारे बिन
कुछ भी न होता
हे भोले शम्भू पधारो
हे गौरी शंकर पधारो
किसने रोका वह
औ भस्मास रमिया
सबको ताज के यहाँ
औ भस्मास रमिया
सबको ताज के यहाँ
हे बोले

मेरे तपस्या का
फल चाहे लेलो
गंगा जल अब अपने
भक्तो को देदो
प्राण पखेरू कही
प्यासा उड़ जाये न
कोई तेरे करुना पे
उँगली उठाये न
भिक्षा मैं मांगू
जन कलियन की
भिक्षा मैं मांगू
जन कलियन की
ईशा करो पूरी
जंगा सनन की
अब न देर करो
आके कस्ट हरो
मेरे बात रक् लो
मेरे लाज़ रक् लो
हे भोले
गजधर पधारो
हे भोले विष
घर पधारो
डोर टूट गए न
मेरा जग में
नहीं कोई तेरे बिना
मेरा जग में
नहीं कोई तेरे बिना.

8. Jag Main Sundar Hain Do Naam जग में सुन्दर है दो नाम Bhajan Lyrics

Singer – Anuradha Paudwal

जग में सुन्दर हैं दो नाम,
चाहे कृष्ण कहो या राम ।
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम ॥

माखन ब्रज में एक चुरावे,
एक बेर भिलनी के खावे ।
प्रेम भाव से भरे अनोखे,
दोनों के हैं काम ॥
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम ॥

जग में सुन्दर हैं दो नाम,
चाहे कृष्ण कहो या राम ।
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम ॥

एक ह्रदय में प्रेम बढ़ावे,
एक ताप संताप मिटावे ।
दोनों सुख के सागर हैं,
और दोनों पूरण काम ॥
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम ॥

जग में सुन्दर हैं दो नाम,
चाहे कृष्ण कहो या राम ।
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम ॥

एक कंस पापी को मारे,
एक दुष्ट रावण संहारे ।
दोनों दीन के दुःख हरत हैं,
दोनों बल के धाम ॥
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम ॥

जग में सुन्दर हैं दो नाम,
चाहे कृष्ण कहो या राम ।
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम ॥

एक राधिका के संग राजे,
एक जानकी संग बिराजे ।
चाहे सीता-राम कहो,
या बोलो राधे-श्याम ॥
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम ॥

जग में सुन्दर हैं दो नाम,
चाहे कृष्ण कहो या राम ।
बोलो राम राम राम,
बोलो श्याम श्याम श्याम ॥

9. Hey Dukh Bhanjan Maruti Nandan हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन Bhajan Lyrics

Singer – Hariharan

हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन,
सुन लो मेरी पुकार ।
पवनसुत विनती बारम्बार ॥
हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन,
सुन लो मेरी पुकार ।
पवनसुत विनती बारम्बार ॥

अष्ट सिद्धि, नव निधि के दाता,
दुखिओं के तुम भाग्यविधाता ।
सियाराम के काज सवारे,
मेरा करो उद्धार ॥
पवनसुत विनती बारम्बार ।

हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन,
सुन लो मेरी पुकार ।
पवनसुत विनती बारम्बार ॥

अपरम्पार है शक्ति तुम्हारी,
तुम पर रीझे अवधबिहारी ।
भक्तिभाव से ध्याऊं तोहे,
कर दुखों से पार ॥
पवनसुत विनती बारम्बार ।

हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन,
सुन लो मेरी पुकार ।
पवनसुत विनती बारम्बार ॥

जपूँ निरंतर नाम तिहरा,
अब नहीं छोडूं तेरा द्वारा ।
रामभक्त मोहे शरण मे लीजे,
भाव सागर से तार ॥
पवनसुत विनती बारम्बार ।

हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन,
सुन लो मेरी पुकार ।
पवनसुत विनती बारम्बार ॥

हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन,
सुन लो मेरी पुकार ।
पवनसुत विनती बारम्बार ॥

10. Shyam Teri Bansi Pukare श्याम तेरी बंसी पुकारे Bhajan Lyrics

Singer – Aarti Mukherjee, Jaspal Singh

श्याम तेरी बंसी..
पुकारे राधा नाम..

श्याम तेरी बंसी
पुकारे राधा नाम
लोग करे मीरा को यूँ ही बदनाम

श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम
श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम
लोग करे मीरा को यूँ ही बदनाम
लोग करे मीरा को यूँ ही बदनाम

सांवरे की बंसी को बजने से काम
सांवरे की बंसी को बजने से काम
राधा का भी श्याम वो तो मीरा का भी श्याम
राधा का भी श्याम वो तो मीरा का भी श्याम

ओ.. जमुना की लहरे बंसीबट की छैया
किसका नहीं है कहो कृष्ण कन्हैया
जमुना की लहरे बंसीबट की छैया
किसका नहीं है कहो कृष्ण कन्हैया
श्याम का दीवाना तो सारा ब्रिज धाम
श्याम का दीवाना तो सारा ब्रिज धाम
लोग करे मीरा को यूँ ही बदनाम

सांवरे की बंसी को बजने से काम
सांवरे की बंसी को बजने से काम
राधा का भी श्याम वो तो मीरा का भी श्याम
राधा का भी श्याम वो तो मीरा का भी श्याम

ओ.. कौन जाने बांसुरिया किसको बुलाए
जिसके मन भाए ये उसी के गुण गाए

कौन जाने बांसुरिया किसको बुलाए
जिसके मन भाए वो उसी के गुण गाए
कौन नहीं कौन नहीं बंसी की धुन का गुलाम
राधा का भी श्याम हो तो मीरा का भी श्याम

श्याम तेरी बंसी पुकारे राधा नाम
श्याम तेरी बंसी कन्हैया तेरी बंसी पुकारे राधा नाम
लोग करे मीरा को यूँ ही बदनाम
राधा का भी श्याम वो तो मीरा का भी श्याम
राधा का भी श्याम वो तो मीरा का भी श्याम

Added by

admin

SHARE

Your email address will not be published.