यहाँ आपको Top 10 Bhajan Singers Lyrics भजन गायक लिरिक्स मिलेंग। यह Top 10 Bhajan Singers Lyrics भजन गायक लिरिक्स सबसे ज्यादा लोकप्रिय तथा सबसे ज्यादा सुने जाने वाले भजन है। हम उम्मीद करते हैं आपको यह Top 10 Bhajan Singers Lyrics भजन गायक लिरिक्स पसंद आएंगे।

  1. Anup Jalota
  2. Anuradha Paudwal
  3. Hariharan
  4. Suresh Wadkar
  5. Sadhana Sargam
  6. Lakhbir Singh Lakha
  7. Gulshan Kumar
  8. Narendra Chanchal
  9. Babla Mehta
  10. Udit Narayan

Anup Jalota

1. Maiya Mori Main Nahin Makhan Khayo मैया मोरी में नहीं माखन खायो

मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो री,
माखन नहीं खायो री ।
मैं माखन नहीं खायो मैया मोरी,
मैं नहीं माखन खायो री ॥

प्रातःसमय गऊवन के पीछे,
मधुबन मोय पठायो री ।
चार पहर बंशी वट भटक्यो,
सांझ पड़े घर आयो री ॥
मैया मोरी मैं नहीं…

मैं बालक अति छोटो कहियूं,
छीको किण विध पायो री ।
ग्वाल बाल मोरे संग रहत है,
मुख पर दही लिपटायो री ॥
मैया मोरी मैं नहीं…

तेरे मन में और बसत है,
जाने परायो जायो री ।
यह ले तेरी काली कमलिया,
झूठो दोष लगायो री ॥
मैया मोरी मैं नहीं…

कूद पड्यो जमुना रे माँहि,
नागनाथ कर आयो री ।
सूर कहे धन्य धन्य यशोदा,
कानो गोद खिलायो री ॥
मैया मोरी मैं नहीं माखन खायो री,
माखन नहीं खायो री ।

Anuradha Paudwal

1. Man Mera Mandir Shiv Meri Puja मन मेरा मंदिर शिव मेरी पूजा

सत्य है ईश्वर,
शिव है जीवन,
सुन्दर ये संसार है ।
तीनो लोक है तुझमे,
तेरी माया अपरम्पार है ।

ॐ नमः शिवाय नमो,
ॐ नमः शिवाय नमो ।

मन मेरा मंदिर शिव मेरी पूजा,
शिव से बड़ा नहीं कोई दूजा,
बोल सत्यम शिवम बोल तू सुन्दरम,
मन मेरे शिव की महिमा के गुण गाये जा ।

पार्वती जब सीता बन कर,
जय श्री राम के सम्मुख आई,
राम उनको माता कहकर,
शिव शंकर की महिमा गाई ।
शिव भक्ति में सब कुछ सूझा,
शिव से बड़ा नहीं कोई दूजा,
बोल सत्यम शिवम बोल तू सुन्दरम ।
मन मेरा मंदिर शिव मेरी पूजा..

तेरी जटा से निकली गंगा,
और गंगा ने भीष्म दिया है,
तेरे भक्तों की शक्ति ने,
सारे जगत को जीत लिया है ।
तुझको सब देवों ने पूजा,
शिव से बड़ा नहीं कोई दूजा,
बोल सत्यम शिवम बोल तू सुन्दरम ।
मन मेरा मंदिर शिव मेरी पूजा..

मन मेरा मंदिर शिव मेरी पूजा,
शिव से बड़ा नहीं कोई दूजा,
बोल सत्यम शिवम बोल तू सुन्दरम,
मन मेरे शिव की महिमा के गुण गाये जा ।

ॐ नमः शिवाय नमो,
ॐ नमः शिवाय नमो ।

Hariharan

1. Raghunandan Raghav Ram Hare रघुनंदन राघव राम हरे

रघुनंदन राघव राम हरे,
सिया राम हरे सिया राम हरे ।

रघुनंदन राघव राम हरे,
सिया राम हरे सिया राम हरे ।

रघुनंदन राघव राम हरे,
सिया राम हरे सिया राम हरे ।

रघुनंदन राघव राम हरे,
सिया राम हरे सिया राम हरे ।

Suresh Wadkar

1. Le Ke Poojaa Kee Thaalee, Jhyot Man Kee Jagaa Lee ले के पूजा की थाली ज्योत मन की जगा ली

ले के पूजा की थाली,
ज्योत मन की जगा ली,
तेरी आरती उतारूँ भोली माँ,
तू जो दे दे सहारा,
सुख जीवन का सारा,
तेरे चरणों पे वारूँ भोली माँ,
ओ माँ ओ माँ।।

धूल तेरे चरणों की लेकर,
माथे तिलक लगाया,
यही कामना लेकर मैया,
द्वार तेरे मैं आया,
रहूँ मैं तेरा हो के,
तेरी सेवा में खो के,
सारा जीवन गुजारूं भोली माँ,
तू जो दे दे सहारा,
सुख जीवन का सारा,
तेरे चरणों पे वारूँ भोली माँ,
ओ माँ ओ माँ।।

सफल हुआ ये जनम के मैं था,
जन्मों से कंगाल,
तुने भक्ति का धन दे के,
कर दिया मालामाल,
रहे जब तक ये प्राण,
करूँ तेरा ही ध्यान,
नाम तेरा पुकारूं भोली माँ,
तू जो दे दे सहारा,
सुख जीवन का सारा,
तेरे चरणों पे वारूँ भोली माँ,
ओ माँ ओ माँ।।

ले के पूजा की थाली,
ज्योत मन की जगा ली,
तेरी आरती उतारूँ भोली माँ,
तू जो दे दे सहारा,
सुख जीवन का सारा,
तेरे चरणों पे वारूँ भोली माँ,
ओ माँ ओ माँ।।

Sadhana Sargam

1. Govind Bolo Hari Gopal Bolo गोविंद बोलो हरी गोपाल बोलो

गोविंद बोलो हरी गोपाल बोलो,
राधा – रमण हरी गोपाल बोलो,
गोविंद बोलो हरी गोपाल बोलो
गोविंद बोलो हरी गोपाल बोलो,
जै – जै श्याम
राधेश्याम, राधेश्याम, राधेश्याम…

ओ री ओ मोसे मोरा श्याम रूठा
कहे मोरा भाग फूटा,
कहे मैने पाप धोए,
आँसुवान बीज बोए
च्छूप-च्छूप मीयर्रा रोए,
दर्द ना जाने कोई
जै – जै श्याम
राधेश्याम, राधेश्याम, राधेश्याम…

विष का प्याला पीना पड़ा है,
मारकर भी मोहे जीना पड़ा है,
नैन मिलाए गिरधर से
गिर गई जो अपनी ही नज़र से,
रो-रो नैना खोए ।

च्छूप-च्छूप मीयर्रा रोए
दर्द ना जाने कोई,
जै – जै श्याम
राधेश्याम, राधेश्याम, राधेश्याम…

गोविंद बोलो हरी गोपाल बोलो,
राधा-रमण हरी गोपाल बोलो,
गोविंद बोलो हरी गोपाल बोलो
गोविंद बोलो हरी गोपाल बोलो,
जै – जै श्याम
राधेश्याम, राधेश्याम, राधेश्याम…

Lakhbir Singh Lakha

1. Bigdi Meri Bana De बिगड़ी मेरी बना दे

सदा पापी से पापी को भी तुम,
माँ भव सिन्धु तारी हो,
फसी मझधार में नैया को भी,
पल में उभारी हो,
ना जाने कौन ऐसी भूल,
मुझसे हो गयी मैया,
तुम अपने इस बालक को माँ,
मन से बिसारी हो ।

बिगड़ी मेरी बना दे,
ऐ शेरों वाली मैया,
बिगड़ी मेरी बना दे,
ऐ शेरों वाली मैया,
ओ, बिगड़ी मेरी बना दे,
ऐ शेरों वाली मैया,
अपना मुझे बना ले मेरी मैया,
अपना मुझे बना ले,
ऐ मेहरों वाली मैया ।

दर्शन को मेरी अखियाँ,
कब से तरस रहीं हैं,
मेरी अखियाँ, माँ मेरी ये अखियाँ,
दर्शन को मेरी अखियाँ,
कब से तरस रहीं हैं,
सावन के जैसे झर झर झर झर,
सावन के जैसे झर झर,
अखियाँ बरस रहीं हैं,
दर पे मुझे बुला ले मेरी मैया,
ओ, दर पे मुझे बुला ले,
ऐ शेरों वाली मैया ।
बिगड़ी मेरी बना दे,
ऐ शेरों वाली मैया ।

आते हैं तेरे दर पे,
दुनिया के नर और नारी माँ,
आते हैं तेरे दर पे,
दुनिया के नर और नारी,
सुनती हो सब की विनती मैया,
सुनती हो सब की विनती,
मेरी मैया शेरोवाली,
मुझ को दरश दिखा दे,
मुझ को दरश दिखा दे मेरी मैया,
ओ, मुझ को दरश दिखा दे,
ऐ मेहरों वाली मैया ।
बिगड़ी मेरी बना दे,
ऐ शेरों वाली मैया ।

शर्मा पे शेरों वाली,
द्रष्टि दया की कर माँ,
शर्मा पे मेरी मैया,
द्रष्टि दया की कर माँ,
चरणों की धूल देकर,
लक्खा की झोली भर माँ,
मरते को अब जिलादे,
मरते को अब जिलादे मेरी मैया,
ओ, मरते को अब जिलादे,
ऐ शेरों वाली मैया ।
बिगड़ी मेरी बना दे,
ऐ शेरों वाली मैया ।

बिगड़ी मेरी बना दे,
ऐ शेरों वाली मैया,
बिगड़ी मेरी बना दे,
ऐ शेरों वाली मैया,
ओ, बिगड़ी मेरी बना दे,
ऐ शेरों वाली मैया,
अपना मुझे बना ले मेरी मैया,
अपना मुझे बना ले,
ऐ मेहरों वाली मैया ।

Gulshan Kumar

1. Kabhi Fursat Ho To Jagdambe कभी फुर्सत हो तो जगदंबे

कभी फुर्सत हो तो जगदंबे,
निर्धन के घर भी आ जाना,
कभी फुर्सत हो तो जगदंबे,
निर्धन के घर भी आ जाना,
जो रूखा सूखा दिया हमें,
कभी उस का भोग लगा जाना,
कभी फुर्सत हो तो जगदंबे,
निर्धन के घर भी आ जाना ।

ना छत्र बना सका सोने का,
ना चुनरी घर मेरे तारों जड़ी,
ना पेडे बर्फी मेवा है माँ,
बस श्रद्धा है नैन बिछाए खड़ी,
इस श्रद्धा की रख लो लाज हे माँ,
इस अर्जी को ना ठुकरा जाना,
जो रूखा सूखा दिया हमें,
कभी उस का भोग लगा जाना ।

जिस घर के दीये में तेल नहीं,
वहाँ जोत जलाऊं मैं कैसे,
मेरा खुद ही बिछौना धरती पर,
तेरी चौकी सजाऊं मैं कैसे,
जहाँ मैं बैठा वहीं बैठ के माँ,
बच्चों का दिल बहला जाना,
जो रूखा सूखा दिया हमें,
कभी उस का भोग लगा जाना ।

तू भाग्य बनाने वाली है,
माँ मैं तकदीर का मारा हूँ,
हे दांती संभालो भिखारी को,
आखिर तेरी आँख का तारा हूँ,
मै दोषी तू निर्दोष है माँ,
मेरे दोषों को तू भुला जाना,
जो रूखा सूखा दिया हमें,
कभी उस का भोग लगा जाना ।

कभी फुर्सत हो तो जगदंबे,
निर्धन के घर भी आ जाना,
कभी फुर्सत हो तो जगदंबे ।

कभी फुर्सत हो तो जगदंबे,
निर्धन के घर भी आ जाना,
कभी फुर्सत हो तो जगदंबे,
निर्धन के घर भी आ जाना,
जो रूखा सूखा दिया हमें,
कभी उस का भोग लगा जाना,
कभी फुर्सत हो तो जगदंबे,
निर्धन के घर भी आ जाना ।

Narendra Chanchal

1. Meri Jholi Choti Padh Gayi मेरी झोली छोटी पड़ गयी

मेरी झोली छोटी पड़ गयी रे,
इतना दिया मेरी माता।

मेरी बिगड़ी माँ ने बनायीं,
सोयी तकदीर जगायी।
ये बात ना सुनी सुनाई,
मैं खुद बीती बतलाता रे।
इतना दिया मेरी माता,
॥ मेरी झोली छोटी पड़…॥

मान मिला सम्मान मिला,
गुणवान मुझे संतान मिली।
धन धान मिला नित ध्यान मिला,
माँ से ही मुझे पहचान मिली।
घरबार दिया मुझे माँ ने,
बेशुमार दिया मुझे माँ ने,
हर बार दिया मुझे माँ ने,
जब जब मैं माँगने जाता।
मुझे इतना दिया मेरी माता,
॥ मेरी झोली छोटी पड़…॥

मेरा रोग कटा मेरा कष्ट मिटा,
हर संकट माँ ने दूर किया,
भूले से कभी जो गुरुर किया,
मेरे अभिमान को चूर किया।
मेरे अंग संग हुई सहाई,
भटके को राह दिखाई।
क्या लीला माँ ने रचाई,मेरी झोली छोटी पड़ गयी
मैं कुछ भी समझ ना पाता।
इतना दिया मेरी माता,
॥ मेरी झोली छोटी पड़…॥

उपकार करे भव पार करे,
सपने सब के साकार करे।
ना देर करे माँ मेहर करे,
भक्तो के सदा भंडार भरे।
महिमा निराली माँ की,
दुनिया है सवाली माँ की।
जो लगन लगा ले माँ की,
मुश्किल में नहीं घबराता रे।
इतना दिया मेरी माता,
॥ मेरी झोली छोटी पड़…॥

कर कोई जतन ऐ चंचल मन,
तू होके मगन चल माँ के भवन।
पा जाये नयन पावन दर्शन,
हो जाये सफल फिर ये जीवन।
तू थाम ले माँ का दामन,
ना चिंता रहे ना उलझन।
दिन रात मनन कर सुमिरन,
चाकर माँ कहलाता।
इतना दिया मेरी माता,
॥ मेरी झोली छोटी पड़…॥

मेरी झोली छोटी पड़ गयी रे,
इतना दिया मेरी माता।
मेरी बिगड़ी माँ ने बनायीं,
सोयी तकदीर जगायी।
ये बात ना सुनी सुनाई,
मैं खुद बीती बतलाता रे।
इतना दिया मेरी माता,
॥ मेरी झोली छोटी पड़…॥

Babla Mehta

1. Bheja Hai Bulava Tune Sherawaliye भेजा है बुलावा तूने शेरावालिए

भेजा है बुलावा, तूने शेरा वालिए
ओ मैया तेरे दरबार, में हां तेरे दीदार की मैं आऊंगा
कभी न फिर जाऊँगा…
शेरावालिये नी माता ज्योता वालिए
नी सच्चियाँ ज्योता वालिए, लाटा वालिए

तेरे ही दर के हैं हम तो भिखारी,
जाएं कहा यह दर छोड़ के, हां छोड़ के ।
तेरे ही संग बंधी भक्तो ने डोरी,
सारे जहां से नाता तोड़ के, हां तोड़ के ॥

शेरावालिये नी माता ज्योता वालिए…
भवना वालिए नी माता लाटा वालिए…

फूलों में तेरी ही खुशबु है मैया,
चंदा में तेरी ही चांदनी, हां चांदनी ।
तेरे ही नूर से है नैनो की ज्योतिया,
सूरज में तेरी ही रौशनी, हां रौशनी ॥

शेरावालिये नी माता ज्योता वालिए…
भवना वालिए नी माता लाटा वालिए…

Udit Narayan

1. Main To Aata Raha Tere Darr Pe Sada मैं तो आता रहा तेरे दर पे सदा

मैं तो आता रहा तेरे दर पे सदा,
मैया तुझको भुलाने को,
आओ गई कब भला मेरे घर पे बता,
घर को मंदिर बनाने को,
मैं तो आता रहा तेरे दर पे सदा,

नंगे पेरो से चल चल के माँ मैं तेरे दरबार पे हर बार आया ,
शाले पड़ जाये पैरो में फिर भी दर्द सेह सेह के भी मुस्काया,
तू ही भूले मुझे मैं न भूलू तुझे चाहे भलु ज़माने को,
मैं तो आता रहा तेरे दर पे सदा,

तेरी मूरत तो हर बार देखि,
अपनी सूरत तो आके दिखाना,
भोग तेरा लगाया तेरा सदा माँ आके घर पे तू खुद भोग खाना,
मैं खिलाऊ तुझे तू खिलाये मुझे,
ऐसा जलवा दिखाने को,
मैं तो आता रहा तेरे दर पे सदा,

मन मैंने के मैं हु भिखारी तीनो लोको की तुम हो हो दाता,
दीन से क्या निभाती नहीं हो माँ बेटे का है जो ये नाता,
मन कंगाल हु पर तेरा लाल हु,
आजा इतना बताने को,
मैं तो आता रहा तेरे दर पे सदा,

राह देखु गा मैं माता रानी जब तलक सांस मेरी चले गई,
जो अगर तू ना आई भवानी दुनिया क्या क्या ना जाने कहे गी,
पूरी कर आस को आँखों की पास को,
आंबे आजा भुजाने को.
मैं तो आता रहा तेरे दर पे सदा,

जो समज तू मुझे लाल अपन फिर मेरा घर क्या तेरा नहीं है,
दूर कितना है तेरे लिए माँ,
फिर क्यों लगता माँ फेरा नहीं है,
मैं तो मजबूर हु रहता मैं दूर हु,
फिर भी आउ मनाने को.
मैं तो आता रहा तेरे दर पे सदा

Added by

admin

SHARE

Your email address will not be published.